छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

अतरिया मे आखिर किसके इशारे पर बिकता है अवैध शराब, दर्जन भर लोग काम करते है शराब बेचने के लिए !

DNnews ब्यूरो !

▶️ शराब भट्टी से थोक मे उठाता है शराब

▶️ कमीशन मे अतरिया तक छोड़ने आता है कोचिया के गुर्गे

बाजार अतरिया ! DNnews-इन दिनो बाजार अतरिया मे अवैध शराब बिक्री ने तो हद ही कर दी. बतादें कि यहां दर्जन भर कोचिया सक्रिय है. जो सुबह से ही अवैध शराब का पसरा लगाकर खुलेआम बेचते है. इन कोचियो को पुलिस का थोड़ा भी डर नही है. और होगा भी क्यों. क्योंकि इन लोगों तक आबकारी विभाग व पुलिस नही पहुंच पाती.

▶️ बड़ी मात्रा मे पहुंच रही है खेप

बतादें कि बाजार अतरिया मे रोजाना बड़ी मात्रा मे अवैध शराब की खेप पहुंच रही है. कोचिया खुद बताते है कि यह शराब हम लोग खैरागढ़ भट्टी से लाते है. इन शराब को पहुंचाने के लिए बाजार अतरिया के बडे डीलर बाकायदा अलग से आदमी रखा है . जो कमीशन के एवज मे बोरी मे भरकर अतरिया तक पहुंचाते है.

▶️ अतरिया से होता है शराब की बिक्री

बतादें कि बाजार अतरिया मे शराब की खेप पहुंचते ही अलग अलग टुकड़ी मे शराब बंट जाता है. जहां अलग अलग जगहो से शराब बिक्री की जाती है. यहीं नही बाजार अतरिया से आसपास गांव के लोग भी बेचने के लिए भी माल ले जाते है.जिससे आसपास गांव के माहौल खराब हो रहा है.

▶️ कार्यवाही नाम मात्र का

बाजार अतरिया जंक्सन के रूप मे जाना जाता है जहां आसपास गांव के लोगों का रोजाना आनाजाना लगा रहता है. लोग उंचे दाम पर शराब खरीद सेवन कर रहे जिससे परिवार का माहौल खराब हो रहे है. यही नही बाजार अतरिया क्षेत्र मे रोजाना शराब सेवन कर घरेलू झगड़े की शिकायत भी रोजाना मिल रही है. जिले मे शराब के वजह से रोजाना हो रही घटना से प्रशासन थोड़ा भी संवेदनशील दिखाई नही पड़ता. इधर अंबागढ़ चौकी के बेलरगोंदी के घटना ने सबको झकझोर दिया है. बावजूद घटनाएं कम नही हो रही है.

▶️ जनप्रतिनिधी नही देते ध्यान

बाजार अतरिया क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों को इन सब मामले मे कोई लेना देना तो नही है. इन सबका यदि जनप्रतिनिधी विरोध करने लगे तो उनका वोट बैंक खराब होने की संभावना है. यही कारण है कि जनप्रतिनिधी लोग इस ओर आज तक आवाज नही उठाया.

▶️ कार्यवाही नही होने पर कोचियो के हौसले बुलंद

एक चीज समझ भी नही आती कि इतने मात्रा मे अवैध शराब की बिक्री खुलेआम हो रही है और आबकारी विभाग मौन बैठा है. लंबे समय से बाजार अतरिया मे आबकारी विभाग की कार्यवाही नही के बराबर हुई है. इससे यही समझ आता है कि या तो विभाग की लंबी सेटिंग है या नही तो कार्यवाही करने से डरते है. यही कारण है कि कोचियो का हौसला दिनो दिन बुलंद होती जा रही है.

▶️शाम होते ही लगता है जमावड़ा

बाजार अतरिया के हृदय स्थल अवंती चौरा के आसपास जहां पर हर धार्मिक कार्यक्रम से लेकर राजनीतिक व अन्य कार्यक्रम होता रहता है. लेकिन कोचियो ने उस जगह का माहौल इतना खराब कर दिया है कि वहां से महिलाएं पैदल नही गुजर सकती. महिलाओं को उस रास्ते से चलना मुश्किल हो गया है. शराबियों के द्वारा मदमस्त होकर गालीगलौज किया जाता है.

▶️ हाथ मे गंगाजल व दिल से कसम सब ड्रामा

हालांकि कांग्रेस पार्टी के द्वारा सत्ता मे आने से पहले हाथ मे गंगाजल लेकर शराब बंदी की कसमे खाई थी. ये कसम सही था या झूठा हमे नही पता कसम से. लेकिन अभी शराब बंदी तो दूर इधर तो अवैध शराब जोरो पर चल रहा है.बहरहाल इस सरकार का कार्यालय ढाई साल और बचा है. और ढाई साल मे शराब बंदी हो जाय तो सरकार के लिए एक अच्छा संदेश भी जाएगा.

“बाजार अतरिया का शिकायत लगातार मिल रही है जल्द ही बड़ी कार्यवाही की जाएगी.”
सविता वर्मा आबकारी उप निरीक्षक खैरागढ़ !

Related Articles

One Comment

  1. गांव गांव में कोचिया बैठे है कही बीजेपी के सपोर्ट है तो कही कांग्रेस का मगर इतना तो तय है राजनीति संरक्षण जरूर मिला होता है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button