छत्तीसगढ़टेक & ऑटोशिक्षा

अब खैरागढ़ मे भी विधायक देवव्रत सिंह के प्रयास से “स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम” स्कूल का होगा संचालन,

▶️ आदर्श कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला मे होगा संचालन

खैरागढ़ ! DNnews-खैरागढ़ विधायक श्री देवव्रत सिंह के प्रयासों से बहुत ही जल्द ‘‘स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम शाला‘‘ का प्रारंभ खैरागढ़ में होने जा रहा है. जिसके संचालन के लिए आदर्श कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला खैरागढ़ के भवन को चुना गया है.

उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह चल रहे विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल के द्वारा प्रदेश के प्रत्येक विकासखण्ड में ‘‘स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम शाला‘‘ को प्रारंभ करने की अनुशंसा को स्वीकृति प्रदान की गई थी. साथ ही खैरागढ़ विकासखण्ड के अन्तर्गत ‘‘स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम शाला‘‘ को प्रारंभ करने हेतु विधायक देवव्रत सिंह के द्वारा पत्रों के माध्यम से जिला एवं राज्य स्तर पर लगातार मांग की जा रही थी. जिसके परिणाम स्वरूप ‘‘स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम शाला‘‘ का प्रारंभ खैरागढ़ में होेने जा रहा है.

उल्लेखनीय है कि आदर्श कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला खैरागढ़ का भवन ‘‘स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम शाला‘‘ के संचालन हेतु पूर्णतः उपयुक्त एवं सभी मापदण्डों में खरा सिद्ध हुआ है। जिसके तहत कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला खैरागढ़ के भवन में प्रथम पाली में ‘‘स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम शाला‘‘ का संचालन एवं द्वितीय पाली में आदर्श कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला की कक्षाओं का संचालन किया जाना है.

इस विषय पर चर्चा करते हुए विधायक श्री देवव्रत सिंह ने ‘‘स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम शाला‘‘ को प्रारंभ कराने हेतु अपने द्वारा किए गए प्रयासों की जानकारी दी. साथ ही यह भी बताया की खैरागढ़ नगर देश की आजादी के पूर्व से ही शिक्षा व्यवस्था में सुदृढ रहा है. सन् 1895 में रियासत कालीन समय से ही डॉ. पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी शाला (विक्टोरिया स्कूल) में अंग्रेजी विषय का पठन- पाठन कराया जा रहा है. साथ ही सन् 1956 में तत्कालीन विधायक एवं अविभाजित मध्यप्रदेश के मंत्री राजा बिरेन्द्र बहादुर सिंह के द्वारा विश्व प्रसिद्ध इन्दिरा कला एवं संगीत विश्वविद्यालय की स्थापना की गई थी. जो आज भी संपूर्ण एशिया में अपनी चमक बिखेर रही है। इसके अलावा सन 1962 में राजा बिरेन्द्र बहादुर सिंह जी (श्री देवव्रत सिंह जी के दादा जी) के द्वारा ही खैरागढ़ नगर में पॉलीटेकनिक स्कूल प्रारंभ कराया गया था। जिसका उन्नयन कराते हुए बाद में श्री देवव्रत सिंह ने उसे पॉलीटेकनिक कालेज का दर्जा दिलाया था. सन् 1984 में तत्कालीन विधायक स्व. रानी रश्मी देवी सिंह के द्वारा शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला की स्थापना खैरागढ़ में की गई थी. जिसके पश्चात सन 2007 में तत्कालीन सांसद एवं वर्तमान विधायक श्री देवव्रत सिंह के द्वारा केंद्रीय विद्यालय की स्थापना खैरागढ़ नगर में की गई थी.

उल्लेखनीय है कि नियमानुसार केन्द्रीय विद्यालय एक जिले में एक ही रह सकता है। परन्तु श्री देवव्रत सिंह जी के द्वारा नियमो को शिथिल कराते हुए केन्द्रीय विद्यालय की स्थापना खैरागढ़ में कराई गई थी. साथ ही केवल एक वर्ष के भीतर ही केन्द्रीय विद्यालय के भवन हेतु राशी स्वीकृत कर विद्यालय भवन को तैयार करा लिया गया था. अब ‘‘स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम शाला‘‘ के प्रारंभ होने से खैरागढ़ शिक्षा के क्षेत्र में एक कदम और आगे बढ़ा चुका है.

▶️ देवव्रत सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री का भी जताया आभार

‘‘स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम शाला‘‘ के खैरागढ़ में प्रारंभ होने की स्वीकृति प्राप्त होने पर विधायक श्री देवव्रत सिंह ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल का धन्यवाद एवं आभार व्यक्त किया है. साथ ही विधायक श्री सिंह ने जिला कलेक्टर श्री तारण प्रकाश सिन्हा जी एवं एसडीएम श्री लवकेश ध्रुव का धन्यवाद व्यक्त किया है।

इसके साथ ही विधायक श्री देवव्रत सिंह जी ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह जी एवं जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री विक्रांत सिंह जी का भी धन्यवाद व्यक्त किया है. जिन्होंने मुख्यमंत्री श्री भुपेश बघेल को खैरागढ़ में ‘‘स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम शाला‘‘ खुलवाने हेतु संयुक्त रूप से अनुशंसा व निवेदन किया था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button