छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

आरटीओ बेरियर पाटेकोहरा मे राजस्व राशि के आड़ मे लूट !

▶️बेरियर मे रात के समय चम्बल के जैसा रहता है माहौल

छुरिया ! DNnews-छत्तीसगढ़ का एक मात्र पाटेकोहरा चेकपोस्ट जो राजनांदगांव जिला का पाटेकोहरा बेरियर अवैध वसूली के नाम से पूरे प्रदेश मे चर्चा का विषय बना हुआ है. खबर है पाटेकोहरा बेरियर में इन दिनों अंतरराज्यीय वाहनों को परिवहन गेट पास के नाम पर ओवरलोडिंग वाहन के कागजात मे कमी निकाल कर अवैध वसूली की जा रही है। पूर्व सरकार के अंतिम चरण मे बंद बेरियर को इस सरकार ने पुनः बेरियर चालू कर दिया गया. बेरियर चालू होने के बाद लगातार छः माह के लिए बनाए गए प्रभारियो को तीन-तीन माह मे बदलना ही यहां भ्रष्टाचार का कारण बना.

बताते है इसी वजह से यहां दलालों का घुसपैठ बढ गया. जीन्हे सरकार के खजाने से ज्यादा अपना जेब भरने का चिन्ता है. स्थानीय लोगों का आरोप है इन्हें सत्ता सरकार के जनप्रतिनिधियों का संरक्षण भी प्राप्त रहता है. इन्हीं कुछ बाहरी व्यक्तियो के वजह से पूर्व मे अवैध वसूली के मामले को लेकर मारपीट की गई थी।जिसपर ट्रक यूनियन के लोग मामले को लेकर थाने पहुंच तक अवैध वसूली पर शिकायत दर्ज करवाया था.

▶️पाटेकोहरा मे राजनैतिक हस्तक्षेप की वजह से मामला रफा दफा कर दिया जाता है

पाटेकोहरा बेरियर शुरू से ही अवैध वसूली के नाम से बदनाम है यहां परिवहन विभाग के भ्रष्ट अफसर व दलाल सरकार के लिए राजस्व कम अपना जेब ज्यादा भरने मे लगे रहते है. जिस अवैध उगाही का राशि पर बड़े-बड़े राजनेताओ से लेकर अधिकारियों तक लिफाफा पहुंचाने का खबर है इस बेरियर मे वर्तमान में वही पुराने चेहरे व दलाल अवैध वसूली के कारोबार में बेरियर में सक्रिय नजर आते है. आम लोगों का आरोप है इन्हें परिवहन अधिकारी का खुला संरक्षण होता है. स्थानीय पुलिस भी इनके ऊपर किसी भी प्रकार की कार्यवाही नही करती है।जिससे उनकी संलिप्तता से इन्कार भी नही किया जा सकता. क्या जिला के बड़े अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों को इस बेरियर में हो रहे अवैध उगाही व भ्रष्टाचार की जानकारी नही होगा ? ऐसा हो नही सकता। इनकी खमोशी सरकार की बदनामी है पूर्व मे भाजपा सरकार पाटेकोहरा चेकपोस्ट मे अवैध उगाही व भ्रष्टाचार को देखते हुए पाटेकोहरा समेत प्रदेश के सभी बेरियर को बंद कर दिया था वर्तमान सरकार द्वारा प्रदेश मे राजस्व के कमी को देखते हुए इसे पुनः चालू कराया गया. मगर जिस उद्देश्य से बेरियर चालू किया गया उसमे सरकार कम सफल हो पा रहे है. भ्रष्ट अफसरशाही व दलालों ज्यादा कामयाब हो रहे है इनके कारनामों के वजह से भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिल रहा है। अगर इसमे समय रहते लगाम नही कसा गया तो विपक्ष को किसी भी समय प्रदेश मे सरकार को घेरने का बहोत बड़ा मुद्दा मिल जाएगा जो इस विभाग के मुखिया का बदनामी का सबसे बड़ा कारण होगा तब तक समय निकल चुका होगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button