छत्तीसगढ़टेक & ऑटोदेश-विदेशपॉलिटिक्स

कांग्रेस सरकार होने के बाद जिले के निष्ठावान कार्यकर्ताओ मे मायूसी,ढाई साल बाद कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के चेहरों मे खुशी की लहर !

छुरिया ! DNnews- छत्तीसगढ़ मे पंद्रह साल बाद निष्ठावान कांग्रेसियों के मेहनत व संघर्ष के बाद प्रदेश मे कांग्रेस की सरकार बनी. पर राजनांदगांव जिले की हालत यह रही कि ढाई वर्ष तक निष्ठावान कांग्रेसी विपक्ष से बत्तर वक्त गुजारे है. जिले की बात करें तो एक भी ऐसा जनप्रतिनिधी सामने नहीं आया जो कार्यकर्ताओं का हमदर्द बनकर पीड़ा सुन सके. स्थानीय जनप्रतिनिधी व अफसरशाही को बेतहाशा बढ़ावा दिया गया. इसके वजह से गुटबाजी चरम सीमा मे है. कुछ पुराने चेहरे जिनको भाजपा शासन काल मे कांग्रेस के प्रति निष्ठा नही रहती थी ऐसे चेहरे का खमियाज़ा निष्ठावान काग्रेसियों को भुगतना पड़़ रहा था. जिले के पूर्व प्रभारी मंत्री ऐसे कुछ नेताओ को तवज्जो बिल्कुल ही नहीं देते थे. जो कांग्रेस को बूरे वक्त मे धोखा दिया करते थे इसका लाभ भ्रष्ट अफसरशाही ने पूरे ढाई साल उठाया. लोगों का कांग्रेस के प्रति मोहभंग होने लगा था.

▶️संगठन के सरलता के वजह से अफसरशाही बेलगाम

राजनांदगांव जिला मे एक समय तेज तर्रार जिला कांग्रेस ग्रामीणअध्यक्ष नवाज खान जिनका जमकर बोलबाला था. जिन्होने कांग्रेस के बुरे दिनो मे भी पार्टी को मजबूत करने का कार्य भी किया. लोग उसे आज भी याद करते है. उनके आगे विपक्ष व भ्रष्ट अफसरशाही थर्राते थे.

ठीक उनके विपरीत आज एक सरल स्वभाव का व्यक्ति वर्तमान का जिला काग्रेंस का अध्यक्ष पदम कोठरी है जिनके सरल स्वभाव से एक तरफ कार्यकर्ताओं को सम्मान मिल रहा है. वहीं प्रशासनिकअधिकारी इसका गलत फायदा भी उठा रहे है.

जिसके वजह से कार्यकर्ताओं का कार्य नही हो पाता. जिला कांग्रेस अध्यक्ष का कार्यकर्ताओं के प्रति मन मे भरपूर सम्मान तो है मगर अफसरशाही इसका गलत फायदा उठाते हुए कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को महत्व नही देते. उनके सीधेपन का फायदा उठा रहे है जिसकी वजह से कार्यकर्ताओं को सत्ता संगठन का लाभ नही मिल पा रहा है।

▶️प्रभारी बदलने से कार्यकर्ताओं मे जागी उम्मीद

आज जिला के प्रथम प्रवास पर पहुंचे जिला के नवनियुक्त प्रभारी मंत्री का कार्यकर्ताओं ने जमकर गर्मजोशी से स्वागत किया. हर कार्यकर्ताओं के चेहरे मे खुशी साफ झलक रही थी. आम चर्चा रहा एक सरल स्वभाव का व्यक्ति को राजनांदगांव जिला का प्रभारी मंत्री बनाए गए अब किसी कांग्रेस के कार्यकर्ता को उपेक्षा झेलना नही पड़ेगा ।

▶️पूर्व प्रभारी मंत्री दोहरे चरित्र के नेताओं से बनाते थे दूरी

ऐसा भी नहीं की पूर्व प्रभारी मंत्री जिला के आम कार्यकर्ताओं का सम्मान व कार्य नही करते थे ये अलग बात है कि कई महत्त्वपूर्ण पद के चलते वे जिला के लोगों को समय कम दे पाते थे. हर आदमी उन तक नहीं पहुंच पाता था. मगर जो भी उनके समक्ष सही कार्य लेकर गया मौके उसे उन्होंने तत्काल निपटाया भी जिला को समय कम देने का कारण भी दोहरे चरित्र के नेता ही खास वजह रही कुल मिलाकर अब देखना यह होगा की ये जोश सिर्फ़ प्रथम प्रवास तक सीमीत रहेगा या कार्यकर्ताओं के दिन बदलगें ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button