छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

छुरिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नेत्रदान पखवाड़ा का किया गया शुभारंभ !

Suraj lahre chhuriya.

छुरिया ! DNnews- राष्ट्रीय अंधत्व एवं अल्प दृष्टि नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत 36 वा राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़ा का आज शुभारंभ समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र छुरिया में विकासखंड चिकित्सा अधिकारी डॉ ऐश्वर्या के द्वारा किया गया । तथा राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़े के संबंध में चर्चा एवं नेत्रदान हेतु संकल्प लिया गया. नेत्र सहायक अधिकारियों द्वारा बताया गया कि नेत्रदान मृत्यु पश्चात ही किया जाता है नेत्रदान करने के लिए मृत्यु के तुरंत बाद सूचना देना आवश्यक होता है क्योंकि आंखें मृत्यु उपरांत केवल 6 घंटे तक की अवधि में निकाली जा सकती है, सूचना मिलने पर नेत्र चिकित्सक / नेत्र सहायक अधिकारी स्वयं घर जाकर नेत्र निकालने की प्रक्रिया को पुरा करेंगे, यदि व्यक्ति ने जीवन काल में नेत्रदान की घोषणा ना की हो फिर भी रिश्तेदार मृत व्यक्ति का नेत्रदान कर सकते है।, नेत्रदान कोई भी व्यक्ति कर सकता है नेत्र ऑपरेशन कराने तथा चश्मा पहनने वाले व्यक्ति भी नेत्रदान कर सकते हैं।, नेत्रदान से प्राप्त नेत्र को कभी भी खरीदी अथवा बेची नहीं जाती , यदि मृत्यु उपरांत आंख खुली या अध खुली है तो आंखों को पूर्ण रूप से बंद करें एवं उस पर पानी से गिली पट्टी अथवा गीली रुमाल या गिली रूई रख देंवे, कोई भी एंटीबायोटिक ड्राप डालें।, नेत्रदान हेतु अपने‌ नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र / प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र / जिला चिकित्सालय में संपर्क करें । , रेबिज , टिटनेस, एड्स, हेपेटाइटिस , सर्पदंश, जहर सेवन,जलने या डूबने से हुई मृत्यु में नेत्रों का दान उपयुक्त नहीं पाया गया है.

इस अवसर पर बीएमओ डॉ ऐश्वर्या, डॉ निर्मल त्रिवेदी, नेत्र सहायक अधिकारी वी के मेश्राम, संजीव कुमार यादव, नयन पटेल, नवीन मेश्राम, देवेंद्र कुमार साहू एवं रोशन नंदेश्वर ब्लॉक प्रबंधक एवं समस्त हॉस्पिटल स्टाफ उपस्थित रहे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button