छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

जनपद के अधिकारी सत्ता दल के लोगों को कर है परेशान !

▶️किसी भी मामले का जानकारी मांगने पर करते है हिलाहवाला

छुरिया ! DNnews-जनपद पंचायत छुरिया के सीईओ के दबंगई से क्षेत्र के कांग्रेसी जनप्रतिनिधी काफी परेशान है. जिसके चलते स्थानीय नेताओं व सरपंचों मे आक्रोश है. जो कभी भी सड़क मे आ सकता है. खबर है कि ऐसे कई गंभीर आरोप जनपद सीईओ के ऊपर है बताते है कि हाल ही मे छुरिया जनपद के दो दुकान को एसडीएमऔर सीईओ के मौजुदगी मे जवाबदार जनप्रतिनिधियों द्वारा टेन्डर प्रक्रिया का खानापूर्ति कर कौड़ी के मोल मे दो दुकान भाजपा के नेताओं को जो हैसियतदार है उसे कम कीमत मे बेच दिया गया. बताते है कि इस निलामी का किसी अखबार मे इश्तहार का भी पता नही है. यह मामला विधायक के संज्ञान मे लाया गया है अब देखना यह है कि गरीबों के लिए बनाए गए उक्त दुकान को जो मिलीभगत से कौड़ी के मोल निलाम कर दिया गया. क्या गरीब बेरोजगारो को विधायक इंसाफ दिला पाएंगे.

▶️जनपद सीईओ के कार्यप्रणाली से जिला प्रशासन का छवि धूमिल

छुरिया जनपद सीईओ व डोंगरगांव एसडीएम के कार्यो से जहां जिला प्रशासन पर सवाल खड़ा हो रहा है वहीं ग्रामीणों के बीच शासन प्रशासन का छवि भी धूमिल हो रहा है. खबर है कि हाल ही मे जिन दुकानों को सस्ते दाम पर निलामी किया गया है इसी तरह पूर्व मे जनपद के मुख्य द्वार के दाहिने ओर बने दुकानों को तत्कालीन सीईओ द्वारा भाजपा शासन के समय कौड़ी के दाम पर निलाम किया गया. उस वक्त जिला कलेक्टर को इस मामले का शिकायत किया गया था. जिस पर उस समय पदस्त कलेक्टर ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल निलामी निरस्त करने का आदेश जारी कर दिया था।

▶️जनपद मे सचिव को फंसाने फिर बचाने का खेल चल रहा है

जनपद पंचायत छुरिया क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत मे जमकर गड़बड़ी होने का शिकायत है. हाल ही मे बोईरडीह ग्राम पंचायत मे फर्जी भुगतान मे निलंबितत सचिव का मामला हो जिन्हें पुनः बहाल कर दिया गया है. या मनरेगा मामले पर हाल ही मे कुमर्दा सचिव व ग्राम पंचायत चांदो मे खेल मैदान व मुक्तिधाम मे फर्जी हाजरी मे सचिव सरपंच को बचाने का मामला सुर्खियों मे है. इस सभी मामले पर आरोप है कि राजनीति दबाव व लेनदेन कर मामले को रफादफा करने का खेल खेला जा रहा है. तभी तो ग्राम पचाँयत चांदो के सैकड़ो ग्रामीणों द्वारा छुरिया जनपद पहुंचकर मनरेगा फर्जी हाजरी मामले पुनः जांच का मांग किया गया. उनका आरोप है जो जांच टीम चांद़ो भेजा गया था वह आरोपियोयो को बचाने ग्रामीण को भ्रमित कर जांच रिपोर्ट मे हास्तक्षर कराकर झूठा प्रतिवेदन पेश किया गया. जिस पर जांच मे संतुष्ट नही होने पर ग्रामीणों द्वारा पुनः हस्ताक्षर युक्त शिकायत जनपद सीईओ छुरिया को जिला कलेक्टर व सीईओ के नाम से आवेदन दिया गया था. खबर है कि सीईओ द्वारा उक्त आवेदन को दबाकर पुराने रिपोर्ट का प्रतिवेदन जिला मुख्यालय को भेज दिया गया बताते है कि चांदो के सरपंच को बचाने राजनीतिक दबाव है बताते है पास के साकरदाहरा नदी से रेत गाड़ियों के लिए इसी पचांयत से रायल्टी पर्ची जारी कराया जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button