छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

जल संरक्षण के लिए वन विभाग द्वारा किया जा रहा नरवा विकास कार्य !

DNnews ब्यूरो !

▶️42 लाख 4 हजार रूपए की लागत से वन क्षेत्र में जल संरक्षण के लिए किया गया गली प्लानिंग, अंडरग्राउण्ड डाईक, परकोलेशन टैंक निर्माण

▶️कलेक्टर ने नरवा विकास के कार्यों का किया निरीक्षण

राजनांदगांव ! DNnews- शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी के अंतर्गत नरवा का विकास कर जल प्रबंधन का कार्य किया जा रहा है। डोंगरगढ़ विकासखंड के खैरागढ़ वन क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम कोहलाकसा में वन विभाग द्वारा नरवा विकास कार्य के अंतर्गत कैम्पा मद से जल संरक्षण, भूमिगत जल स्तर को बढ़ाने, मिट्टी के कटाव को रोकने के लिए अनेक कार्य किए जा रहे है। कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने नरवा विकास कार्यों के अंतर्गत जल संरक्षण के लिए किए गए कार्यों का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि नरवा विकास से आस-पास क्षेत्रों में भूमिगत जल स्तर बढ़ेगा। इससे बारिश के पानी का सही उपयोग होगा। उन्होंने कहा कि जिन स्थानों पर तालाब, अंडर ग्राउण्ड डाईक का निर्माण किया गया है। वहां चारो तरफ पेड़-पौधे लगाएं जिससे बारिश में मिट्टी के कटाव को रोका जा सके। उन्होंने नरवा संवर्धन कार्यो पर संतुष्टि जाहिर की।
वन रक्षक श्री अनिल कुमार बोम्बाडऱ्े ने बताया कि नरवा विकास कार्यों के अंतर्गत कैम्पा मद से वन क्षेत्रों में 42 लाख 4 हजार रूपए की लागत से जल संरक्षण के लिए कार्य किया गया है। इसके अंतर्गत 144 नग 30-40 मॉडल, 71 गली प्लानिंग, 25 अंडर ग्राउण्ड डाईक, 2 परकोलेशन टैंक और 3 अलग-अलग तालाब का निर्माण किया गया है। उन्होंने बताया कि अंडर ग्राउण्ड डाईक के माध्यम से नाले में पानी का फ्लो कम होगा। जिससे पानी जमीन के अंदर तक जाएगी और जल स्तर में वृद्धि होगी। इसके बनने से भूमि के कटाव की गति नियंत्रित होगी और आस-पास वन क्षेत्र के वेजिटेशन में वृद्धि होगी। प्रत्येक 30-40 मॉडल में पौधे लगाएं जाएंगे। जिससे भूमिगत जल, मृदा संरक्षण के साथ वनों में जल प्रवाह की गति संतुलित होगी।

▶️कलेक्टर ने ग्राम फतेगंज में वन विभाग की नर्सरी का किया अवलोकन

कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने ग्राम फतेगंज में वन विभाग की नर्सरी में तैयार किए गए पौधों का अवलोकन किया। उन्होंने वन विभाग की सराहना की। वन रक्षक श्री अनिल कुमार बोम्बाडऱ्े ने बताया कि नर्सरी में 70 हजार पौधे तैयार कर किए गए है। इसमें 50 हजार पौधे मनरेगा के तहत और 20 हजार पौधे विभाग द्वारा तैयार किए गए है। वहीं 4 हजार मुनगा के पौधे तैयार किए गए हैं। नर्सरी में आम, नीम, आंवला, बेहड़ा, काजू, बांस, सीरस, गुलमोहर, महुआ, करंज, मुनगा, अर्जुन, कहुआ जैसे विभिन्न प्रकार के पौधे है। उन्होंने बताया कि वृक्षारोपण दिवस के लिए पौधे तैयार किए गए हैं।  इस अवसर पर एसडीएम डोंगरगढ़ श्री अविनाश भोई, सीईओ जनपद पंचायत श्री लक्ष्मण कचलाम, तहसीलदार श्री अविनाश ठाकुर, वन रक्षक श्री अनिल कुमार बोम्बाडऱ्े, श्री घोस सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button