छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

तहसीलदार प्रफ्फुल कुमार गुप्ता छुईखदान-गंडई के लिये उल्लेखनीय कार्य कर अविस्मरणीय अमिट छाप छोड़ गए : चन्द्रभूषण यदु

Dileep shukla salhewara.

साल्हेवारा ! DNnews – छुईखदान तहसीलदार प्रफ्फुल कुमार गुप्ता का तबादला गंडई छुईखदान के रहते ऐतिहासिक कार्य‌‌‌ का अनोखा अनुपम बेमिशाल किर्तीमान अविस्मरणीय अनुकरणीय कार्य कूशलता नेतृत्व कर गंडई छुईखदान में यादगार नया सोपान लिखकर चले गये.

2017 से नायब तहसीलदार के पद पर गंडई छुईखदान में कार्यरत रहे.तीन बार ट्रांसफर हुआ बालोद ,डोगरगढ खैरागढ ,जिसे गंडई छुईखदान के जनमानस जनप्रतिनधियों ने आंदोलन कर तत्कालीन कलेक्टर भीम सिंह से मांग कर अपने चहेते अधिकारी को गंडई छुईखदान में ही रखने मांग रखे. कलेक्टर भीम सिंह भी आखिर कार जनता के पसंद अधिकारी को यथावत आदेश कर दिये.ऐसा पहले अधिकारी है गुप्ता साहब तहसीलदार जिसे आंदोलन कर मांगना पड़ा.नही तो अधिकारी कर्मचारी को भगाने के लिये आंदोलन धरना प्रदर्शन करते सुना था पर यह पहले अधिकारी थे जिसे तीन बार वापस बुलाया गया.

गंडई में प्रभारी तहसीलदार प्रफ्फुल कुमार गुप्ता साहब ने ऐसे कई उलेख्खनीय कार्य किये जो आज भी लोंगो के जहन पर अंकित है. अतिक्रमण हो ,बाढ ग्रसित हो ,किसी की प्राण रक्षा हो बिरखा में महेश नामक युवक कुंऐ की मलबा निकालते समय दब गया था जिसका शव को बड़ी मशक्कत के बाद निकाला गया गुप्ता साहब का सराहनीय योगदान रहा गंडई के पास रैमड़वा नाले में दस घंटा तक एक मासुम फंसा रहा जिसे एनडीआरएफ ने चट्टान तोड़ कर निकाला गया सुरक्षित जिसमें गुप्ता साहब डटे रहे गंडई नदी में अधिक बाढ होने से एक परिवार को सुरक्षित निकाला गया ऐसे अनेकोनेक कार्यकर अमिट छाप छोड़ गये. जो कभी नही भुलाया जा सकता सार्वजनिक कार्य में सहयोग ,किसी गरीब का सिर से छत अति वृष्टि से गिर जाने पर ,वृध्दावस्था पेंशन सामाजिक सूरक्षा पेंशन नामांतरण बंटवारा प्रकरणों का समय सीमा में निराकरण करने में महारत हासिल था।

साथ ही शासन प्रशासन की आदेश का पालन बखुबी निभाते थे वर्तमान कलेक्टर साहब तारन प्रकाश सिंन्हा जी संवेदनशील इलाके में प्रथम बार साल्हेवारा वनांचल में क्षेत्रीय जनप्रतिनधियों का बैठक साल्हेवारा सामुदायिक भवन में रुबरु हुये नचनियां में भी टीकाकरण अभियान के चलते जागरुक कर ग्रामीणों को टीकाकरण के संबध में जागरुकता का पहल किये रात्री विश्राम साल्हेवारा रेस्ट हाऊस में बिताये प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र साल्हेवारा में सबेरे जाकर हास्पीटल का जानकारी लिये जो पहले बार साल्हेवारा वनांचल क्षेत्र में कलेक्टर साहब का रात्री विश्राम रहा.वनांचल के दौरे कार्यक्रम में सभी जनप्रतिनधि अपने अपने बात रखे जिसमें चन्द्रभूषण यदु भी अपनी बात रखते हुये बैताल रानी घाटी,कुंआ धास झरना ,ठाड़पानी सरईपतेरा वाटर फाल कंशेला पर्वत को पर्यटन क्षेत्र बनाने मांग रखा जिसे कलेक्टर महोदय ने सहमति जताये है एक नंबर बात रखने के लिये चन्द्रभूषण यदु को बधाई भी दिये जो वनांचल साल्हेवारा के लिये कलेक्टर महोदय तारन प्रकाश सिंन्हा साहब का आगमन होना सौभाग्य की बात रहा है। चाहे कोरोना प्रोटोकाल हो ,टीकाकरण अभियान हो , धान खरीदी केंद्र का निरीक्षण हो ,जनसमस्यों का अविलंब निराकरण कर लोगों के जनभावना के प्रति कर्मठता सजगता से कार्य का संपादन करने में दक्ष थे.

अस्वस्थ रहते हुये भी कभी अहसास नही होने देते शासन प्रशासन की गाइड लाईन में रहकर सभी कार्यो को पारदर्शीता पूर्वक बखुबी निभाते रहे।अचानक राजनांदगांव ट्रांसफर हो जाने के कारण गंडई छुईखदान के जनप्रतिनधि जागरुग जनता मायुस हो गये । भीम सिंह कलेक्टर साहब के रहते वनाधिकार मान्यता पत्र युद्ध स्तर पर पात्र हितग्राहियो को पट्टा वितरण किया गया था ।जो एक मिशाल कायम कर नई विकास की गाथा गढकर छुईखदान तहसीलदार प्रफ्फुल कुमार गुप्ता साहब चले गये ।बैताल रानी घाटी में भीड़ को नियंत्रण करने पर अहम भूमिका अदा करते हुये छुईखदान पुलिस के साथ सराहनीय प्रयास कर पर्यटकों को कंट्रोल में चलने हिदायत दिये जो बैताल रानी घाटी में 15 अगस्त को भारी भीड़ को काबु करने में सफलता पूर्वक संचालन किये ऐसे कई प्रकार से उलेख्खनीय कार्य हमेशा स्मरण रहेगा.छुईखदान गंडई साल्हेवारा क्षेत्र ने अनुभवी अधिकारी के कार्यप्रणाली से काफी खुश थे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button