छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी योजना के तहत निर्मित गौठान वनांचल क्षेत्रों में ले रहे साकार रूप !

DNnews ब्यूरो !

▶️ग्राम बसेली के गौठान में वर्मी कम्पोस्ट, मशरूम उत्पादन एवं अन्य गतिविधियों से महिलाएं हो रही आत्मनिर्भर

▶️कलेक्टर ने बसेली के गौठान का किया अवलोकन

राजनांदगांव ! DNnews- शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी के तहत निर्मित गौठान जिले के सुदूर वनांचल नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में साकार रूप ले रहे हैं। मानपुर विकासखंड के ग्राम बसेली में बना गौठान अन्य गौठानों के लिए अच्छा उदाहरण है। जहां महिला स्वसहायता समूह की महिलाएं गोधन न्याय योजना के तहत गोबर खरीदी से लेकर वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण, चारा उत्पादन, फलदार पौधरोपण, मशरूम उत्पादन कर रही है। इन आर्थिक गतिविधियों से महिलाएं आत्मनिर्भर हो रही हैं। कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने अपने साप्ताहिक दौरे में ग्राम बसेली के गौठान का निरीक्षण किया। उन्होंने गौठान में वर्मी कम्पोस्ट निर्माण प्रक्रिया का अवलोकन कर गुणवत्ता को परखा और गौठान में स्थित आजीविका शेड का भी निरीक्षण किया। यहां वर्मी कम्पोस्ट के पैकेजिंग का कार्य किया जा रहा था। कलेक्टर श्री वर्मा ने गौठान के रख-रखाव तथा वर्मी कम्पोस्ट निर्माण के लिए प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि गौठान का संचालन और वर्मी कम्पोस्ट निर्माण स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा किया जाना उन्हें आत्मनिर्भर बनाती है। वे लगातार इसी तरह कार्य करें। वर्मी कम्पोस्ट के विक्रय के लिए किसानों को प्रेरित करें।

कलेक्टर श्री वर्मा ने गौठान में उपस्थित महिला स्वसहायता समूह से चर्चा कर उनके कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने उपस्थित ग्रामवासियों को कोरोना संक्रमण से बचाव के बारे में जानकारी दी और वैक्सीन लगाने के लिए जागरूक किया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से लडऩे के लिए सभी वैक्सीन जरूर लगाएं एवं अन्य लोगों को प्रेरित करें। वैक्सीन लगाकर ही कोरोना से सुरक्षित रह सकते हैं। इस अवसर पर कलेक्टर श्री वर्मा ने नदी से गौठान तक पानी लाने के लिए बिछाये जाने वाले पाईप लाईन का भूमिपूजन किया।

ग्राम पंचायत सचिव श्रीमती रेणुका बारसागढ़े ने बताया कि गोधन न्याय योजना के तहत जय मां शीतला स्वसहायता समूह द्वारा गौठान में गोबर खरीदी कर वर्मी कम्पोस्ट तैयार किया जा रहा है। यहां 35 हितग्राही पंजीकृत है। अभी तक 54 क्विंटल वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन किया गया है। इसमें 52 क्विंटल वर्मी कम्पोस्ट का विक्रय किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि गौठान में वर्मी टैंक का निर्माण किया गया है। वहीं बाड़ी योजना के तहत विभिन्न प्रकार की सब्जियां भी लगाई गई थी। मवेशियों को हरा चारा उपलब्ध कराने के लिए ढ़ाई एकड़ में मक्का, नेपियर घास का उत्पादन किया गया है। गौठान में ग्रामीणों द्वारा श्रमदान कर पौने एकड़ में पौधरोपण का कार्य भी किया गया है। इसमें पपीता, आंवला, जामुन, आम के फलदार पौधे लगाए गए। वहीं गांव के निवासियों द्वारा समय-समय पर पैरादान भी किया गया। महिलाओं द्वारा मशरूम उत्पादन भी किया गया। नेहरू युवा केन्द्र के युवाओं द्वारा मशरूम उत्पादन के लिए महिलाओं को प्रशिक्षण दिया गया है। गौठान में आर्थिक गतिविधियों के लिए आजीविका शेड का भी निर्माण किया गया है। इस अवसर पर एसडीएम मोहला श्री सीपी बघेल, सीईओ जनपद पंचायत मानपुर श्री डीडी मंडले, कार्यपालन अभियंता प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना क्रमांक 2 श्री पीपी खरे, कार्यपालन अभियंता आरईएस श्री एस घोष, तहसीलदार श्री सुरेन्द्र उर्वशा, नायब तहसीलदार श्री सृजल साहू सहित अन्य अधिकारी उपस्थित 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button