छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

पांड़ादाह मे करमडार महाउत्सव का हुआ विहंगम आयोजन !

खैरागढ़ ! DNnews- गोंडवाना चौक, पाण्डादाह -भादो उजाला पक्ष एकादशी 17 सितम्बर को करमडार महापूजा एवं कुंवारी कन्याओं के द्वारा निर्जला व्रत रखा गया .विनय प्रार्थना निवेदन करते हुऐ करमड़ार प्रकृति शक्ति का पूजन करते है । कृषि जगत में सभी फसलों की अच्छी उत्पादन हो, कृषको को सुख समृद्धि प्राप्त हो ऐसा भावना निहित होती है.

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि गोंडवाना गुरुमाता एवं कोरबा जिला पाली ब्लाक के जनपद अध्यक्षा माता दुर्गे दुलेश्वरी जी ने अपनी उदबोधन में बताया कि करमडार महापूजा को आदिवासी समाज प्राचीन काल से करते आ रहे है । मानव समाज की कल्याण , विश्वकल्याण की भावना और सुख समृद्धि एवं औषधि के रूप में उपयोग करते है । साथ ही साथ कृषि क्षेत्र में अच्छी फसल मिले प्रकृति शक्ति हमारी रक्षा सुरक्षा करे ऐसी भावना के साथ कन्याएं यह महाव्रत धारण करती है।


इस कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि जिला पंचायत सदस्य सभापति सहकारिता एवं खाद्य विभाग राजनांदगांव तिरुमाल विप्लव साहू जी ने कहा कि गोंडियन समुदाय ही विश्व की मूल समुदाय है जिसने आदिकाल में और आज भी प्रकृति के सबसे सन्निकट और जिसने अपनी पहचान की रक्षा बड़ी शिद्दत से की है। एवं जिला पंचायत सदस्य, सभापति महिला बाल विकास तिरूमाल श्री घम्मन साहू जी उदबोधन में करमडार महापूजा को आदिवासी संस्कृति के अभिन्न अंग बताया एवं प्रकृति के संरक्षक और संवर्धक बताया, और इस कार्यक्रम में आने को आभार व्यक्त किया।उदबोधन की इस कड़ी में वैधराज व अधिवक्ता तिरुमाल शेखू वर्मा जी अपनी उदबोधन में गोंडी संस्कृति को विश्व संस्कृति के जननी जनक बताया और आज भी गोंडवाना समाज को अपनी रीति रिवाज, रूढ़ी परम्परा के मानने वाला कहा । गंडईगढ़ के राजा लाल टाकेश्वर शाह खुसरो ने गोंडवाना समाज को प्रकृति के पुजारी और प्रकृति शक्ति मानने वाला बताया साथ ही साथ मातृशक्ति और पितृशक्तियो को संरक्षक व आदिकाल से अपनी व्यवस्था को मानने वाला समाज बताया साथ ही साथ गोंडवाना गुरुदेव दुर्गे भगत जगत जी एवं गोंडवाना गुरुमाता को समाज की विलुप्त हो रही संस्कृति को पुनः समाज में स्थापित करने वाले महापुरुष व देवतुल्य बताया । अन्य विशिष्ट अतिथियों में डॉ संतोष मारिया, डॉ बिसेसर साहू, गोरेलाल वर्मा, संतोष कर्ष, नामदेव जी (पार्षद गंडई) इस कार्यक्रम में राजनांदगांव जिले के सभी ब्लॉक से सगा हजारों की संख्या में सम्मिलित हुए । कार्यक्रम के आयोजकों श्री एस आर धुर्वे और सी एस मरकाम ने पधारे सभी अतिथियों और सगाजनों का स्वागत और आभार व्यक्त किया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button