छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

पाटेकोहरा परिवहन चेक पोस्ट पर उत्पात मचाने वाले 23 लोगों पर जुर्म दर्ज !

पाटेकोहरा बेरियर कुछ तथाकथित लोग षड़यंत्र कर बदनाम करने मे लगे

छुरिया ! DNnews – राजनांदगांव महाराष्ट्र बार्डर पर लगे पाटेकोहरा बेरियर में आए दिन विवाद की स्थिति कोई बड़ी बात नही है. पूर्व मे भी बड़ी बड़ी घटना घटी मगर इसे ऐसा तूल नही दिया गया. खबर है कि एक दलाल जो विपक्ष का सपोर्टर है उसके चलते सरकार के परिवाहन विभाग को ही बदनाम करने के नियत से प्लानिंग के तहत करने का आरोप है। बताया जाता है यहाँ पहले से व्यवस्था इतना टाईट कर दिया है कि बाहरी व्यक्ति व दलालों का यहाँ बिल्कुल ही एन्ट्री नही है. इनके वजह से ऐसे कुछ लोग लंबे समय से ऐसा स्थिति निर्मित करने मे लगे थे. हाल ही मे बेरियर में ट्रक ड्राइवर और बेरियर कर्मचारियों के बीच विवाद हुआ है। जिसे लेकर दोनों ही पक्षों की ओर से चिचोला थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

23 लोगों के खिलाफ जुर्म दर्ज

पाटेकोहरा परिवहन चेक पोस्ट पर उत्पात मचाने वाले 23 लोगों पर जुर्म दर्ज- राजनांदगांव से 30 किलोमीटर आगे पाटेकोहरा परिवहन चेक पोस्ट पर शासकीय कर्मचारियों के साथ धक्का- मुक्की, गाली गुफ्तार कर उत्पात मचाने वाले 23 लोगों के खिलाफ चिचोला पुलिस चौकी पर मामला दर्ज कर लिया गया है. जिन लोगों में मामला दर्ज किया गया है वे सभी ट्रक मालिक संघ से संबंद्ध बताए जाते हैं. पाटेकोहरा चेक पोस्ट में पदस्थ उपनिरीक्षक नरेश सोरी ने जो रिपोर्ट दर्ज करवाई है उसके मुताबिक ज्ञानी बलजिंदर सिंह, त्रिलोक सिंह, सुरजीतसिंह बेनी पाल, गोविन्दर सिंह बाल, विक्की केहरा, रणजीत सिंग जोधा, बलविन्दर सिंग जोधा, कुलदीप सिंग सत्कार, निरवीर सिंग, सुखविंदर अलयास छोटू, हैप्पी बाजवा बिटू काला, सतनाम, मंजीत सिंह छबि पाल, अमृत सिंग सिन्धु कालू, करमजीत सिंग, मंदीप सिंग दोसाझ, बिट्टा, सोहल लाल, जग्गी बरार, पलविंदर और पाल सिंग ने परिवहन के प्रधान आरक्षक धनेश्वर साहू, आरक्षक जेके सिंह, कौशलेंद्र साहू, तुलेश्वर साहू, बिरेंद्र सहित चौकी में पदस्थ अन्य सरकारी कर्मचारियों के साथ 23 मई को न केवल गाली गलौज की ब्लकि जान से मारने की धमकी भी दी. नरेश सोरी की शिकायत पर पुलिस ने धारा 147, 186,188, 294, 506, 269 और 270 के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

ट्रक मालिक संघ के इतने सारे सदस्यों पर जुर्म दर्ज हो जाने के पीछे रसीद ( पर्ची ) का विवाद बताया जा रहा है.बताया जाता है यदि लायसेंस रिनीवल नहीं है तो पांच हजार रुपए की राशि अदा करनी होती है. बताया जाता है कि पिछले कुछ समय से संघ से जुड़े लोग इस राशि के भुगतान से इंकार कर रहे थे. चेकपोस्ट पर तैनात कर्मचारियों के साथ संघ के लोगों का विवाद तब बढ़ गया जब एक कंडक्टर गाड़ी से गिर गया और उसे चोट लग गई. संघ से जुड़े लोगों ने इस बात को लेकर चेक पोस्ट में पदस्थ कर्मचारियों ने अपने जान-ओ-माल की गुहार लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज करवा दी है. इस विवाद के बाद कई तरह की बातें सामने आ रही है.विवाद की जड़ में विरोधी दल से जुड़े लोगों का नाम सामने आ रही हैं।

24 मई को प्रकाशित खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button