छत्तीसगढ़टेक & ऑटोशिक्षा

बरसात के पानी से टापू मे तब्दील हुआ जंगलपुर के प्राथमिक शाला एवं माध्यमिक शाला, प्रशासन से गुहार लगाने के बाद भी अब तक नही हुआ भवन निर्माण हेतु राशि स्वीकृत !

छुईखदान ! DNnews- विकासखण्ड छुईखदान के ग्राम जंगलपुर में प्रशासन से कई बार गुहार लगाने के बाद भी प्राथमिक शाला एवं माध्यमिक शाला भवन निर्माण हेतु राशि स्वीकृत नही हो पाया है जिसके कारण दिनांक 20.09.2021 के सुबह के बरसात से नाली एवं स्कूल मैदान का पानी क्लास अंदर घुस गया जो देर रात तक भी नही निकल पाया है. वर्तमान में खोंघा से लेकर जंगलपुर दनिया तक 5 किलोमीटर सड़क निर्माण होने के कारण सड़क अब स्कूल मैदान से ऊंचा हो गया है जिसके कारण बरसात का पानी सीधे स्कूल परिसर में घुस जाता है और सीधे क्लास रूम तक पानी चले जाता है , थोड़ा से बरसात में ही स्कूल परिसर लबालब हो जाता है. जिससे पढ़ाई कई दिनों तक बाधित रहता है.

प्राथमिक शाला भवन सन 1985 में बना हुआ है जो वर्तमान में जर्जर हो गया है वही माध्यमिक शाला भवन उससे भी ज्यादा जर्जर हो चुका है बच्चे कक्षा 6 वी के भवन अंदर पढ़ने से भी डरता है। इसी तरह हर बरसात में स्कूल की स्तिथि वर्तमान में भरे पानी की तरह हो जाता है। लगातार पानी भरने के कारण वहां बच्चो के बैठने हेतु रखे कुर्सी टेबल भी नीचे सड़ रहा है। विकासखंड शिक्षा से लेकर जिला शिक्षा अधिकारी एवं कलेक्टर को भी जनशिकायत एवं सोशल मीडिया के जरिये वर्त्तमान परिस्थितियों से अवगत कराया जा चुका है.

शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला जंगलपुर के शाला प्रबंधन समिति के अध्यक्ष ऐमन जंघेल द्वारा सरकार के जनशिकायत निवारण विभाग में ऑनलाइन शिकायत से लेकर विकासखंड शिक्षा अधिकारी एवं जिला शिक्षा अधिकारी को शिकायत किया जा चुका है. लेकिन अब तक भवन निर्माण हेतु कोई कार्यवाही नही हो पाया है. कुछ कार्यवाही किया भी है स्टीमेट लोकशिक्षण विभाग को भेजने के जानकारी जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा ऐमन जंघेल को दिया है लेकिन उसमे राशि अंकित नही किया है.जिससे स्कूल हेतु राशि स्वीकृति नही होने के कारण ग्राम के लोगो एवं बच्चों के पालको में आक्रोश व्याप्त है। अगर जल्द ही भवन निर्माण हेतु पर्याप्त राशि नही मिलती है तो कभी भी बड़ी शिकायत या आंदोलन करने के मूड में ग्रामवासी है.

“ग्राम जंगलपुर जागरूक नागरिक एवं शाला प्रबंधन समिति के अध्यक्ष श्री ऐमन जंघेल का कहना है कि मेरे द्वारा विकासखंड शिक्षा अधिकारी से लेकर जिला शिक्षा अधिकारी एवं कलेक्टर को भवन की जर्जर स्तिथि एवं जलभराव की जानकारी पिछले दो वर्षों से दिया जा रहा है चाहे वह जनशिकायत समस्या निवारण के माध्यम से हो या शोसल मीडिया के माध्यम से लगातार शिकायत किया जा चुका है लेकिन विभागीय प्रक्रिया भी पूरा किया जा चुका है जिलाशिक्षा अधिकारी द्वारा स्टीमेट लोकशिक्षण विभाग को भेजे जाने की भी जानकारी दिया गया है लेकिन स्टीमेट कितना का बनाया गया है राशि की जानकारी नही दिया गया है जिससे पर्याप्त पैसा नही मिलने पर स्कूल निर्माण नही हो पायेगा इसलिए अतिशीघ्र पर्याप्त राशि के साथ तत्काल राशि स्वीकृति प्रदान किया जाय.”
ऐमन जंघेल अध्यक्ष शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जंगलपुर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button