छत्तीसगढ़टेक & ऑटोशिक्षा

बाजार अतरिया हाई स्कूल में भृत्य नहीं होने से शिक्षकों को ही करना पड़ रहा भृत्य का काम !

▶️ बीईओ कार्यालय छुईखदान में कार्यरत है चार चार भृत्य

▶️ 8 साल से रिक्त है भृत्य का पद

▶️ 15 साल तक शाला विकास समिति ने रखे थे भृत्य

बाजार अतरिया ! DNnews- स्थानीय बाजार अतरिया हाई स्कूल में भृत्य की कमी होने के चलते हाई स्कूल के शिक्षकों को ही भृत्य का काम करना पड़ रहा है. हम पाठकों को बता दें कि कोरोना संक्रमण के चलते लंबे समय बाद स्कूलों के पट खुले हैं जिसके बाद स्कूल खोलने से लेकर, साफ सफाई, खिड़की खोलना, खिड़की बंद करना, ऑफिस का कार्य सहित भृत्य के विभिन्न कार्य होते है जिसको लेकर स्कूल में एक भृत्य का होना आवश्यक है लेकिन यहां भृत्य का पद रिक्त है वही छात्र छात्राओं की संख्या भी नौ सौ से भी अधिक है. जिसको लेकर जिला शिक्षा अधिकारी के रिटायर्ड सैनिक एवं कांग्रेस कार्यकर्ता उत्तमचंद जंघेल के द्वारा आवेदन दिया गया है. जिसमें कहा गया है कि शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला बुंदेली में भृत्य के पद में पदस्थ दिनेश विश्वकर्मा पिता नारायण लाल विश्वकर्मा को बाजार अतरिया के हाई स्कूल में भृत्य के पद में पदस्थ करने कहा गया है. जोकि दिनेश विश्वकर्मा को व्यवस्था में वर्तमान में विकासखंड शिक्षा अधिकारी छुईखदान के कार्यालय में भृत्य के रूप में कार्यरत हैं. मिली सूत्रों की जानकारी के अनुसार बीईओ कार्यालय में पूर्व से ही 4 भृत्य पदस्थ हैं वहीं जिला शिक्षा अधिकारी से आग्रह किया गया है की जल्द से जल्द शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला बाजार अतरिया में रिक्त भृत्य के पद को बीईओ कार्यालय से दिनेश विश्वकर्मा को बाजार अतरिया हाई स्कूल में पदभार ग्रहण करने हेतु दिशानिर्देश करने आग्रह किया गया है. जिससे स्कूल के विभिन्न कार्यों को सुचारू रूप से संचालित किया जा सके जिससे शिक्षकों एवं विद्यार्थियों को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं। उक्त मौके पर अन्नू उत्तम जघेल, मोहन वर्मा, बलराम वर्मा सहित क्षेत्र के कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

▶️शिक्षकों को करना पड़ रहा भृत्य का कार्य

स्कूल में विभिन्न प्रकार के कार्य को करने के लिए भृत्य का होना आवश्यक होता है लेकिन बाजार अतरिया हाई स्कूल में यहां देखने को मिल रहा है कि यहां भृत्य का पद रिक्त हैं जहां भृत्य का कार्य शिक्षकों द्वारा किया जा रहा है ऐसे में शिक्षक बच्चे को पढ़ाये या भृत्य का कार्य करें यह एक बड़ा सवाल है वहीं शिक्षा विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा गैर जिम्मेदाराना तरीके से बीईओ कार्यालय छुईखदान में चार चार भृत्य को अपने अंदर में रखा गया है.और यहां बाजार अतरिया हाई स्कूल में भृत्य की कमी के चलते शिक्षकों को ही भृत्य का कार्य करना पड़ रहा है जो समझ से परे है.

हाई स्कूल में 8 साल से खाली है भृत्य के पद, 15 साल तक शाला विकास समिति ने रखे थे भृत्य

बाजार अतरिया के हाई स्कूल में लगभग 8 साल से भृत्य का पद रिक्त है जहां चंद्रेश नामक व्यक्ति को शाला विकास समिति के तरफ से भृत्य का कार्य करने के लिए लगभग 15 साल से रखा गया था लेकिन हाल ही में अभी कोरोना संक्रमण के चलते शाला विकास समिति में भी फंड नहीं होने की वजह से उनको भी हटा दिया गया है जिसके बाद से अब स्कूल का संपूर्ण भृत्य का कार्य शिक्षकों के ऊपर ही आ गया है. ऐसे में यह शिक्षा विभाग में बड़ा लापरवाही का उजागर हो रही है जिससे पालकों में भी नाराजगी देखी जा रही है।

मामले की जानकारी मुझे कल ही आवेदन के माध्यम से मिला है जहां पर्याप्त रूप से भृत्य कार्यरत हैं वहां से एक भृत्य को अस्थाई रूप से कार्य करने हेतु व्यवस्था किया जाएगा
हेतराम सोम जिला शिक्षा अधिकारी राजनांदगांव

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button