छत्तीसगढ़टेक & ऑटोदेश-विदेश

भूपेश सरकार का गरीबों के आशियाने पर डाका. जिला पंचायत अध्यक्ष गीता घासी साहू

▶️गरीब परिवार के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना वरदान : गीता घासी साहू

छुरिया ! DNnews- राजनांदगांव जिला पंचायत अध्यक्ष गीता घासी साहू से मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण 2016-17 में 12501 हितग्राही लाभान्वित हुए, इसी तरह से,2017-18 में 8213 ,2018 -19 में 21402, 2019-20 में 8000 एवं 2020-21 में 7000 कुल 57116 गरीब लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिया गया जिसमें पूर्ण कंप्लीट 44982 है और अपूर्ण 12134 है। जिसकी राशि राज्य सरकार द्वारा रोक दी गई है जिसके कारण से गरीबों के घर बनाने के सपने अधूरे रह गए हैं कांग्रेस के भूपेश सरकार द्वारा सन 2020 21 में 7000 गरीब हितग्राही परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिया जो की राशि 0% होने के कारण गरीबों का आशियाना कागजों में ही सिमट कर रह गई है।

➡️ गरीब परिवारों का घर बनाने का सपना अधूरा कर रही है भूपेश सरकार

सन 2020-21 में बीते 4 वर्षों में सबसे कम प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ गरीब परिवारों को सिर्फ कागजों में दिया गया जिसकी राशि 0% आवंटित किया गया जो कि कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार द्वारा गरीब तबके परिवार के लिए सिर्फ एक छलावा साबित हुआ छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सत्ता आने के बाद प्रधानमंत्री आवास योजना को दरकिनार कर दिया गया जिसके कारण गरीब परिवारों को आवास योजना से वंचित होना पड़ रहा है छत्तीसगढ़ के कांग्रेस सरकार को चाहिए कि प्रधानमंत्री जी के अति महत्वकांक्षी योजना का लाभ गरीब परिवारों को मिले ताकि उनके घर बनाने का सपना अधूरा ना रहे।

केंद्र सरकार की अति महत्वकांक्षी योजना प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण जिसमें गरीब कच्चे मकान वाले परिवारों को पक्का मकान बनाने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिया जाता है लेकिन छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार द्वारा गरीब परिवारों को लाभ से वंचित होना पड़ रहा है क्योंकि प्रतिवर्ष प्रधानमंत्री आवास योजना में कटौती की जा रही है और गरीबों का घर बनाने का सपना अधूरा रह गया है। जिला पंचायत अध्यक्ष गीता घासी साहू ने छत्तीसगढ़ सरकार के भूपेश सरकार पर हमला करते हुए कहा कि जब से छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सत्ता आई है तब से गरीबों के घर बनाने का सपना, सपना ही रह गया क्योंकि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार गरीब परिवारों के साथ छलावा कर रही है और केंद्र सरकार की योजनाओं पर अंकुश लगाकर गरीब परिवारो का माखोला उड़ा रही है। गरीब परिवार घर बनाने के लिए अपने कच्चे टूटे घरों को तोड देते हैं लेकिन कांग्रेस सरकार द्वारा ना हि समय पर क़िस्त की राशि दी जाती है ना ही उनके लिए उचित कदम उठा पा रही हैं। जिसके कारण राज्य सरकार से गरीब परिवारो का भरोसा उठ गया है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब परिवारों के लिए सन 2022 तक पक्का मकान बनाने के लिए संकल्पित थे।ऐसे में राज्य सरकार द्वारा उपेक्षित कर गरीबों के साथ उपेक्षित कर रही हैं।

➡️केंद्र सरकार आवास योजना में तत्पर भूपेश सरकार ने लगाई अंकुश

प्रधानमंत्री आवास योजना में केंद्र सरकार 60 प्रतिशत राशि और राज्य सरकार 40 प्रतिशत राशि व्यय करती हैं।केंद्र सरकार में बैठी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गरीबों के हित मे प्रधानमंत्री आवास योजना के माध्यम से आवास (घर) बनाई जा रही जो कि गरीब परिवार के लिए वरदान साबित हो रही थी।लेकिन ढाई साल से छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सत्ता आई है। तबसे भूपेश बघेल की सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना में अंकुश लगा दिया है। जबकि केंद्र सरकार द्वारा गरीबो के सपनो का घर बनाने के लिए तैयार है राज्य सरकार अपनी नाकामी (असमर्थता) जताकर केंद्र सरकार पर दोषारोपण करती रही हैं।

➡️घर बनाने के लिए आवास की आस में गरीब परिवार

भाजपा के शासन काल में छतीसगढ़ राज्य के राजनादगॉव जिले में बड़ी संख्या में प्रधानमंत्री आवास योजना से गरीब परिवार के हितग्राहियों को इस योजना का लाभ मिला ।जिससे गरीब परिवार के लोगों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी थी।क्यो ना हो उस व्यक्ति को पूछ लो जिनके पास स्वयं का घर ना हो उन्हें पता है कि घर बनाने के लिए यह योजना वरदान साबित हो रहा था। लेकिन राज्य सरकार अपनी धुन में सवार होकर मदमस्त होकर केंद्र सरकार की योजना को नकार रही हैं ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button