छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

मनरेगा में बिना काम के व मस्टररोल में बिना हस्ताक्षर के खाते में डाला राशि, कलेक्टर को हुई शिकायत !

Suresh verma bazar atariya.

बाजार अतरिया ! DNnews- इन दिनों क्षेत्र बाजार अतरिया सहित क्षेत्र के पंचायतों से लगातार शिकायतें मिल रही है. शासन के राशि का दुरुपयोग किया जा रहा है. खास बात यह है कि पंचायत प्रतिनिधि मंडल के ही लोग बागी हो रहे हैं और पंचायत में हो रहे भ्रष्टाचार और अनियमितता को उजागर कर रही है. हम बात कर रहे हैं स्थानीय ग्राम पंचायत बाजार अतरिया के पंचायत के जहां महेश महिलांगे पिता कुंजलाल महिलांगे जो कि बाजार अतरिया पंचायत के निवासी है. आरोप लगाया है कि महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना के काम में ना तो वह कार्य करने गया है और ना ही वह मांग पत्र भरा है. और ना ही मस्टररोल में हस्ताक्षर किया है. बावजूद बाजार अतरिया छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक के खाते में रोजगार सहायक के द्वारा 1040 रुपए डाला गया है. जिसकी शिकायत राजनांदगांव कलेक्टर को 6 जून को किया गया है. साथ ही आगे इसमें कहा गया है कि रोजगार सहायक शिवकुमारी साहू द्वारा मस्टररोल में हस्ताक्षर करने के लिए बार-बार फोन करके महेश को बुलाया गया बावजूद महेश ने हस्ताक्षर नहीं किया. अब मामला यहां समझ में नहीं आ रहा है कि जब महेश ना तो काम पर गया है और ना ही मांग पत्र भरा है साथ ही उन्होंने मस्टररोल में भी हस्ताक्षर नहीं किया गया है उसके बावजूद बैंक के खाते में 1 सप्ताह की राशि का आना समझ से परे है. महेश महिलांगे ने कलेक्टर महोदय से निवेदन किया है कि तत्काल जांच पड़ताल कर उचित कार्रवाई करते हुए रोजगार सहायक को तत्काल पद से हटाया जाने की मांग की गई है।

▶️ मामले पर कार्यवाही होगी या खानापूर्ति

लोगों का घर में बैठे मनरेगा में हाजिरी भर रहा है और मस्टररोल में भी बिना हस्ताक्षर किए खाते में सीधे पैसे आ रहा है. ऐसे में यह बड़ा मामला है जो जांच का विषय है. क्या इस पर उचित कार्यवाही होगी या नहीं होगी यह देखने वाली बात है. अगर कार्यवाही होती भी तो क्या खानापूर्ति कर मामला को दबा दिया जाएगा. यहां देखना होगा लगातार मनरेगा में फर्जीवाड़े को लेकर शिकायतें आवेदक द्वारा की जाती रही है. लेकिन उचित कार्यवाही नहीं की जाती लेनदेन कर मामला को निपटा लिया जाता है ऐसे में भ्रष्टाचार को और बढ़ावा मिलता है।

▶️मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत राजनांदगांव से आया जवाब

बाजार अतरिया निवासी महेश महिलांगे की शिकायत के बाद 25 जून को मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत राजनांदगांव के तरफ से जवाब आया है जिसमें बताया गया है की उल्लेखित तथ्यों का परीक्षण कर निराकरण आवश्यक कार्यवाही करते हुए कार्यवाही की जानकारी से आवेदक को उपलब्ध कराते हुए प्रतिवेदन सात दिवस के भीतर इस कार्यालय को प्रेषित करने कहा गया है. अब देखना यह होगा कि क्या यह गंभीर मामला पर किसी प्रकार की कोई कार्यवाही होती है कि नहीं या सिर्फ खानापूर्ति कर कार्रवाई की जावेगी.

▶️ रोजगार सहायक का ने खुद कबूल किया

मामले को लेकर हमारे प्रतिनिधि के द्वारा रोजगार सहायक का पक्ष जानना चाहा जिसमे रोजगार सहायक के द्वारा पक्ष रखा गया है. रोजगार सहायक स्वयं से मस्टररोल भरना, महेश महिलांगे को मस्टररोल में हस्ताक्षर के लिए फोन करना एवं महेश महिलांगे द्वारा मस्टररोल में हस्ताक्षर का नहीं किया जाना रोजगार सहायक द्वारा स्वीकार किया जा रहा है.

“मामला गंभीर है जांच का विषय है जांच पड़ताल कर दोषियों के खिलाफ उचित कार्यवाही की जावेगी।”
लोकेश चंद्राकर सीईओ जिला पंचायत राजनांदगांव

“महेश महिलांगे तालाब के गहरीकरण के कार्य में आया था 2 दिन तक मैं स्वयं देखी हूं. मस्टररोल में हस्ताक्षर करने के लिए मैं फोन करके बुलाई हूं लेकिन नहीं आया. और उनके द्वारा हस्ताक्षर भी मस्टररोल में नहीं किया गया है।”
शिवकुमारी साहू रोजगार सहायिका बाजार अतरिया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button