छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

राजस्व के लंबित प्रकरणों को शीघ्र पूर्ण करें : कलेक्टर

DNnews ब्यूरो !

▶️ गिरदावरी कार्य में लापरवाही बरतने वाले पटवारी के विरूद्ध कार्रवाई करें

▶️ युद्ध स्तर पर समितियों से धान का उठाव करने के दिए निर्देश

▶️ कलेक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों की बैठक

राजनांदगांव ! DNnews- कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। कलेक्टर ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के केस कम हो रहे हैं और राजस्व विभाग के लंबित कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण करना है। नामांतरण, सीमांकन एवं बंटवारा के प्रकरण के लिए जनसामान्य को भटकना न पड़े। गिरदावरी का कार्य बहुत महत्वपूर्ण है, गिरदावरी के कार्य में लापरवाही बरतने वाले पटवारी के विरूद्ध कार्रवाई करें। उन्होंने सभी एसडीएम एवं तहसीलदार से कहा कि राजस्व अधिकारियों को न्यायालय की शक्तियां प्राप्त हैं, इसलिए कोर्ट में जरूर बैठना चाहिए। उन्होंने कहा कि शासन की लोककल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी फिल्ड से मिलती है, इसलिए फिल्ड में मुआयना जरूर करें। कलेक्टर ने कहा कि धान का उठाव नहीं करने वाले राईस मिलर्स पर कार्रवाई प्रारंभ कर दी गई है, आगे ट्रांसपोटर्स पर भी कार्रवाई की जाएगी। 10 दिन में प्रदेश में सर्वाधिक धान का उठाव 7 लाख क्विंटल धान का उठाव जिले में हुआ है। वहीं 6 लाख क्विंटल धान समितियों में शेष है। युद्ध स्तर पर समितियों से धान का उठाव कराना है।
कलेक्टर श्री सिन्हा ने कहा कि कोरोना से सुरक्षित रहने के लिए टीकाकरण बहुत जरूरी है। उन्होंने सभी एसडीएम से कहा कि टीकाकरण को बढ़ाने के लिए अभियान चलाये। इसके लिए गांव-गांव में शिविर लगा सकते हैं। जिले मेें स्वास्थ्य अधोसंरचना को मजबूत करने के लिए अपने अनुविभागों में समीक्षा करें। जीवन दीप समिति से 10-10 लाख रूपए की राशि सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों को दी जाएगी। जनऔषधि केन्द्रों में दवाईयों की उपलब्धता रहे। कलेक्टर श्री सिन्हा ने कहा कि सभी अधिकारी मुख्यालय में निवास करेंगे। लोक सेवा गारंटी के तहत प्राप्त आवेदन का गुणवत्तापूर्ण निराकरण करें। जाति प्रमाण पत्र, आय, निवास, भुईयां से नकल, कृषि भूमि नामांतरण, विवाह पंजीकरण एवं अन्य राजस्व सेवाओं के प्रभावी निराकरण के लिए कार्य करें, ताकि लोगों को तत्काल राहत मिल सकें। सभी एसडीएम से कहा कि स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल की विश्वस्तरीय अधोसंरचना होनी चाहिए और इसके लिए उत्कृष्ट कार्य करें। यह प्रोजेक्ट जरूरतमंद बच्चों की शिक्षा से जुड़ा हुआ है, इस पर विशेष ध्यान दें। यहां दी गई राशि का पूर्ण उपयोग करते हुए लाईब्रेरी, लैब एवं अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराना है, इसमें नवाचार भी करें। उन्होंने छुरिया विकासखंड में ऑनलाईन नामांतरण बढ़ाने तथा टेड़ेसरा एवं कुमर्दा में वर्षा मापी यंत्र सुधरवाने के निर्देश दिए। उन्होंने डिजिटल हस्ताक्षरए ई-कोर्ट अंतर्गत राजस्व प्रकरण, डिजिटल हस्ताक्षरित खसरा, ई-कोर्ट अंतर्गत राजस्व प्रकरण के निराकरण, राजस्व न्यायालयों में प्रकरणों की नियमित सुनवाई, अविवादित व विवादित नामांतरण प्रकरणों के निराकरण, अविवादित व विवादित बंटवारा प्रकरण, सीमांकन प्रकरण की समीक्षा करते हुए सभी तहसीलदारों से कहा कि आगे किसी भी तरह की बहानेबाजी नहीं चलेगी और स्थिति में सुधार होना चाहिए। कलेक्टर ने कहा कि भू-अर्जन के मामलों में अवार्ड पारित होने के बाद तुरंत नांमातरण की कार्रवाई करें और रिकार्ड दुरूस्तीकरण करें। उन्होंने कहा कि शिविर लगाकर मुआवजे की राशि का वितरण कर दें।

कलेक्टर श्री सिन्हा ने मौसम खरीफ ग्राम में गिरदावरी कार्य शत-प्रतिशत किये जाने, नवीन राजस्व ग्राम निर्माण बांधाबाजार, अड़ाम, कुहीकोड़ा, करेलापारा की प्रगति, अनसर्वेड ग्रामों का अभिलेख निर्माण, ऑनलाईन नामांतरण पंजी के तहत ऑनलाईन नामांतरण हेतु प्राप्त आवेदन के निराकरण, दैनिक वर्षा रिपोर्ट एवं वर्षाभापी यंत्र दुरूस्त करने संबंधी, नजूल भू-भाटक की वसूली, अपवर्तन भू-भाटक वसूली, भू-अर्जन प्रकरणों का निराकरण एवं मुआवजा वितरण, लोक सेवा गारंटी अधिनियम अंतर्गत प्राप्त आवेदन-पत्रों का निराकरण, बाढ़ आपदा से बचाव हेतु आवश्यक तैयारी, राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत एवं ओलावृष्टि व असामाजिक वर्षा से हुई फसल क्षति का सहायता अनुदान, सड़क दुर्घटना में प्रभावित व्यक्तियों को अनुदान सहायता राशि का भुगतान, मुख्यमंत्री सहायता कोष (कोविड-19) में दी गई राशि का भुगतान संबंधी, वन अधिकार पत्रों की जानकारी, बचे हुए धान का परिवहन, पानी से बचाव एवं उनके रख-रखाव के उपाय, आगामी धान खरीदी हेतु बारदानों की व्यवस्था एवं अन्य व्यवस्था, खाद, बीज, केसीसी की उपलब्धता, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के क्रियान्वयन के संबंध में समीक्षा की।

अपर कलेक्टर श्री सीएल मारकण्डेय ने बताया कि कलेक्टर के आदेश से बांधाबाजार, अड़ाम, कुहीकोड़ा एवं करेलापारा को नवीन राजस्व ग्राम निर्माण के लिए भेजा गया है। डिप्टी कलेक्टर श्रीमती लता उर्वशा ने कहा कि गिरदावरी के लिए पटवारी, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी एवं सचिव मिलकर यह कार्य करेंगे, इसके लिए पहले ही मुनादी कराएं। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी, संयुक्त कलेक्टर श्री विरेन्द्र सिंह, एसडीएम राजनांदगांव श्री मुकेश रावटे, एसडीएम डोंगरगढ़ श्री अविनाश भोई, एसडीएम डोंगरगांव श्री हितेश पिस्दा, एसडीएम छुईखदान श्रीमती निष्ठा पाण्डेय, एसडीएम खैरागढ़ श्री लवकेश धु्रव, एसडीएम मोहला-मानपुर श्री राहुल रजक, डीपीएम श्री गिरीश कुर्रे, तहसीलदार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button