कोरोनावायरसछत्तीसगढ़

राजस्व विभाग बेलगाम एसडीएम पटवारी बाबू की मनमानी !

▶️जनप्रतिनिधियों का है सरक्षण

नवनियुक्त कलेक्टर से व्यवस्था दुरूस्त करने का है उम्मीद

छुरिया ! DNnews- राजनांदगांव जिला मे पूर्व कलेक्टर के कार्यकाल मे जिला के शासकीय कर्मचारी को जिस तरह से संरक्षण था उससे सत्ता सरकार का छवि खराब हुआ है. बताते है सबसे ज्यादा शिकायत राजस्व विभाग का है जहां एसडीएम डोगरगांव द्वारा कोई भी शिकायतकर्ता से सीधे मुंह बात नही किया जाता. खबर तो यहा तक है कि उनके संरक्षण के वजह से पटवारियो द्वारा खुलेआम शासकीय भूमि पर लेनदेन कर कब्जा कराया जा रहा है. बताते है छुरिया ब्लाक के ग्राम झितराटोला हल्का नं 23 मे पटवारी देवांगन पर ग्रामीणो का आरोप है कि सचिव के घर के आगे वहीं के एक व्यक्ति द्वारा शासकीय भूमि पर सौचालय निर्माण किया जा रहा है. जिसकी शिकायत तहसीलदार छुरिया को किया गया है. उनके द्वारा हल्का नं 23 के पटवारी से प्रतिवेदन मागा गया मगर जानबूझकर प्रतिवेदन उसके द्वारा भेजा नही जा रहा है. ताकि अतिक्रमण कारी अपना निर्माण कार्य पूर्ण कर ले यही हाल ग्राम पंचायत बखरूटोला मे बताते है कि खिलावन साहू द्वारा शासकीय भूमि मे मकान का निर्माण किया जा रहा था जिस पर स्टेय होने के बाद पुनः उसी जगह पर दो मन्जिल मकान का निर्माण किया जा रहा है. कुल मिलाकर कर राजस्व विभाग के मिलीभगत के चलते सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा कराया जा है वहां स्थानीय जनप्रतिनिधि इस मामले चुप्पी साघे हुए है.

▶️तहसील कार्यालय मे बाबू राज क्या जनप्रतिनिधियों का है संरक्षण

छुरिया तहसील कार्यालय मे पदस्थ बड़े बाबू साहू का आंतक से पूरे क्षेत्र के किसान परेशान है उक्त बाबू बड़े बुजुर्गों से भी सही ढंग से बात नही करते उनके ऊपर आरोप है बैगर लेनदेन के कोई काम नही करते कई बार उक्त बाबू का शिकायत स्थानीय विधायक से लेकर जिला के उच्च अधिकारियों को ग्रामीणों द्वारा किया जा चूका। है पर अब तक बाबू के ऊपर अधिकारी जनप्रतिनिधी मेहरबान है किसी को भी शासन प्रशासन का बदनामी का ख्याल नही है क्षैत्र के लोगो को एसडीएम डोंगरगाव व तहसील कार्यालय मे पटवारी व बाबू राज को जिला के नवनियुक्त कलेक्टर से व्यवस्था सुधारने का उम्मीद है।

▶️जनपद मे पंचायत के दुकान एसडीएम सीईओ के मौजूदगी मे कौड़ी के भाव निलामी

छुरिया जनपद सीईओ के ऊपर कई गंभीर आरोप है कि हाल ही मे छुरिया जनपद के दुकान को एसडीएम और सीईओ के मौजुदगी मे जनपद के जवाबदार जनप्रतिनिधियों द्वारा टेन्डर प्रक्रिया का खानापूर्ति कर कौड़ी के मोल दुकानों भाजपा के हैसियत दार लोगो को कम किमत मे फाईन बेच दिया गया. यह मामला विधायक के संज्ञान मे है अब देखना गरीबों के लिए बनाए गए दुकान को कौड़ी के मोल अमीरो को बेच दिया गया. क्या गरीब बेरोजगारो के साथ इन्शाफ होगा ?

▶️जिला केअधिकारी व स्थानीय जनप्रतिनिधी जनपद सीईओ पर क्यों है मेहरबान

छुरिया जनपद सीईओ व डोंगरगाव एसडीएम के कार्यो से जहां जिला प्रशासन पर सवाल खड़ा हो रहा है वहीं ग्रामीणों के बीच शासन प्रशासन का छवि भी धूमिल हो रहा है. खबर है हाल ही मे जिन दुकानों को सस्ते दाम पर निलामी किया गया है इसी तरह पूर्व मे इन्हीं दुकानों को त्तकालीन सीईओ द्वारा भाजपा शासन के समय कौड़ी के दाम पर निलाम किया गया उस वक्त शिकायत के बाद उस समय पदस्त कलेक्टर ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल निलामी निरस्त करने का आदेश जारी कर दिया था.

▶️जनपद मे सचिव को फंसाने फिर बचाने को खेल चल रहा है

जनपद पंचायत छुरिया
ग्राम पंचायत के सचिव चाहे बोईरडीह पंचायत मे फर्जी भुगतान मे निलंबित सचिव को पुनः बहाल का मामला हो या मनरेगा मामले पर पूर्व मे कुमर्दा सचिव व ग्राम पंचायत चांदो मे खेल मैदान व मुक्तीधाम मे फर्जी हाजरी मे सचिव सरपंच को बचाने का हो इस सभी मामले पर आरोप है राजनीति दबाव व लेनदेन कर मामले को रफादफा करने का खेल खेला जा रहा है. तभी तो ग्राम पचायत चांदो के सैकड़ो ग्रामीणों द्वारा छुरिया जनपद पहुंचकर मनरेगा फर्जी हाजरी मामले पुनः जांच का मांग किया गया. उनका आरोप है जो जांच टीम चांद़ो भेजा गया था. वह आरोपियो को बचाने ग्रामीण को भ्रम मे रखकर जांच रिपोर्ट मे हास्ताक्षर कराकर झूठा प्रतिवेदन बनाने का मामला सामने आया था. जिस पर ग्रामीणों ने हस्ताक्षर युक्त शिकायत दोबारा छुरिया जनपद सीईओ को जिला कलेक्टर व सीईओ के नाम से दिया गया था. खबर है सीईओ द्वारा उक्त आवेदन को दबाकर भ्रमित कर जांच टीम द्वारा दिए गए रिपोर्ट का प्रतिवेदन जिला मुख्यालय को भेज दिया. बताते है कि चांदो के सरपंच को बचाने राजनीतिक दबाव है बताते है पास के साकरदाहरा नदी से रेत गाड़ियों के लिए इसी पंचायत से रायल्टी पर्ची जारी कराया जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button