छत्तीसगढ़टेक & ऑटोशिक्षा

लावारिश अवस्था मे पड़े शाउमाशा छुरिया का लाखो का सामान रातोंरात पार !

छुरिया ! DNnews- राजनांदगांव जिले का सबसे बड़ा और मजबूत शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला छुरिया जिसका कुछ वर्ष पूर्व लगभग दस लाख के लागत से रिपेयरिंग कराया गया था. दरवाजा, पंखा, फर्नीचर सब कुछ बेहतर बन गया. मगर दुर्भाग्य है इस स्कूल जो लोग यहां पढ़़कर विधायक से मंत्री के पद तक पहुंचाया वो लोग कभी इसके दूर्दशा को पलटकर भी नही देखा. कई लोग स्कूल के पढाई के बदौलत बड़े बड़े नौकरियों मे भी पहुंचे. मगर आज इस स्कूल प्रति कोई भी संवेदनशील नही है. वर्तमान विधायक के प्रयास से नए भवन के लिए लगभग सवा करोड़़ के राशि स्वीकृत हुआ. भवन का ठेका डोगरगांव के एक ठेकेदार को मिला है.

बताते है पुराने शाला भवन का आधा से ज्यादा भाग वर्तमान मे उपयोग के लायक है. उसे भी जानबूझकर कुछ लोग आर्थिक लाभ के लिए खण्डहर बना रहे है. शाला के जवाबदार जनप्रतिनिधी व नौकरशाही सब कुछ लुटते देख रहे है. किसी को इस सरकारी सम्पत्ति का हमदर्दी नही है. बताते है कि वर्तमान मे इस शाला मे एक चौकीदार भी नहीं है. नगर के प्रबुद्धजनों ने स्थानीय विधायक से मांग की है कि वर्तमान मे स्कूल का हालात के लिए जो जवाबदार है उनसे सम्पूर्ण समान का विवरण मांगे और इस दूर्दशा के पहुलओं का एक कमेटी बनाकर जांच कराए. खबर तो यहां तक बताया जा रहा है कि बहुत से लोग इसमे लगे किमती लकड़ी एंग्गल पंखा, फर्नीचर अन्य समान को रातो रात बेच दिए है. जिसका शाला प्रबंधन के पास कोई ठोस लेखाजोखा नही है ।

“हमारे यहां चौकीदार नही है. वैसे हमारे पास ऐसा कोई फंड नही है जिसमे हम चौकीदार को नौकरी मे रख सके।”
एचके खिलारी प्राचार्य शाउमाशा छुरिया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button