छत्तीसगढ़टेक & ऑटोशिक्षा

… वाह् गुरुजी वाह्…….मान गए, आपको तो बड़ा आवार्ड मिलना चाहिए…. अरे अरे…..ये क्या शराब के नशे में शिक्षक विद्यार्थी को कमरे में किया बंद फिर क्या हुआ…….. पढ़िए पुरी स्टोरी …..

▶️शिक्षक पर कार्यवाही नही हुआ तो शाला मे तालाबंदी

छुरिया ! DNnews- ग्राम झाड़ीखैरी में पुर्व माध्यमिक शाला में शिक्षक तामेश्वर मंडावी ने स्कुल बच्चो को बंद कर बाहर से लगाया ताला. जिसके चलते ग्राम में आक्रोश की स्थिति निर्मित हो गया है. बताते है कि ग्राम के सरपंच पटेल एवं ग्रामवासी के समझाईश पर उन्होने ताला खोला, ग्रामवासियों द्वारा शिक्षक के खिलाफ कलेक्टर, जिला शिक्षा अधिकारी एवं विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी से लिखित में किया गया है शिकायत. 1 सितंबर को ग्राम झाड़ीखैरी पूर्व माध्यमिक शाला में पदस्थ शिक्षक तामेश्वर मण्डावी के द्वारा शराब के नशे में धूत होकर बच्चो को डाट फटकार लगाकर स्कूल के मुख्य द्वार पर ताला लगा दिया. एवं गाली गलौच करते हुए कही चला गया. जो शाम 4 बजे तक शाला में उपस्थित नहीं हुआ. खबर यह भी है कि इस मामले पर समझाईश हेतु गांव में ग्रामीण द्वारा बैठक रखा. जिसमें ग्रामीणों को मास्टर द्वारा कहा गया आप लोग मेरा कुछ बिगाड़ नहीं सकते. आप लोगो को देख लुंगा करके धमकी देते हुए ग्रामीणो के बैठक का बहिष्कार शिक्षक द्वारा किया गया. जिससे ग्रामवासियों एव पालक गण आक्रोशित होकर निर्णय लिया गया कि, उक्त शिक्षक को जब तक इस शाला से नहीं हटाया जाएगा तब तक शिक्षक तामेश्वर मंडावी को शाला में प्रवेश नहीं दिया करने दिया जाएगा. और कार्यवाही नहीं होने पर अतिशीघ्र ग्रामीणों द्वारा शाला में पूर्ण तालाबंदी की जावेगी.

अगर 6 सितंबर तक शिक्षक तामेश्वर मंडावी पर कार्यवाही नही होता है तो दिनांक 7 सितंबर को शाला में पूर्ण तालाबंदी की जावेगी. इसकी जानकारी संबंधित विभाग एवं कलेक्टर महोदय को विज्ञप्ति देकर जानकारी दे दी गई है.

ज्ञाटन सौंपने वालो मे रविन्द्र वैष्णव पूर्व जनपद उपाध्यक्ष, हेमसिंग निर्मलकर सरपंच ग्राम पंचायत झाड़ीखैरी, ग्राम पटेल रोहित राम पटेल, आशीष कुमार, धनेश राम, पंचराम, महेश चंद्रवंशी, भैयाराम, देवीचंद्र, रमेश कुमार, बुधराम, बृजलाल, नारद राम, रामदास, मनोज कुमार, कृष्णा किशोरी लाल, जेठराम, रामसहाय, सोनउराम, सरवन, नरसिंग, प्रेमलाल, जगतराम, अहिरराम, तिलकराम, सहित बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे.

“इस संबंध मे विकाखंड शिक्षा अधिकारी द्विवेदी जी को उनका पक्ष जानने के लिए फोन लगाया लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नही किया.”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button