छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

विद्युत विभाग की लापरवाही,लोगो ने किया बिजली विभाग का घेराव ,जमकर चली नारे बाजी !

धनंजय गोस्वामी

▶️बिजली के लिए तरस रहे ग्रामीण

▶️विरोध की वजह बनी बेमौसम की विद्युत कटौती

खुज्जी ! DNnews– विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते दर्री ,बेंदरकटा , पांग्री , पतथरी, साल्हे , बननवागांव, की बिजली पिछले कुछ दिनों से लगातार गुल हो रही है एवम् लो वोल्टेज की समस्या बनी रहती है इस मौसम में बिजली न आने से ग्रामीण परेशान हैं.

विभाग के लोग एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहराकर मामले से पल्ला झाड़ रहे हैं। अहम बात है कि बिजली काटने के पीछे कोई ढोस वजह भी नहीं है, ना ही किसी तरह का उपभोक्ताओं पर बकाया है। ग्रामीणों की माने तो गांव में बिजली की आपूर्ति ऐन मौके पर बंद हो जाती है चाहे वो सुबह पानी भरने के टाइम हो या रात को खाना खाने के टाइम ।
गांव के लोग खेती आदि का कार्य बिजली के भरोसे ही करते हैं। आधा दर्जन से अधिक लोगों ने ट्यूबवेल का कनेक्शन लिया है, बिजली बंद होने पर खेती कार्य में परेशानी होती है

ग्रामीणों ने बिजली विभाग के लाइनमैन से भी मुलाकात की लेकिन वह अपने को अधिकारियों के आदेश का गुलाम बता रहा है। सच भी है बिना जेई के आदेश के उसके लिए बिजली जोड़ना संभव नहीं है।
हालात यह है कि गांव के लोग विभागीय कार्यालयों का चक्कर काटने में घनचक्कर बने घूम रहे हैं गांव के सरपंच प्रतिनिधि देवेंद्र साहू , ओमप्रकाश रामटेके , संघ पाल रामटेके, राम राजपूत , बड़भूम सरपंच हुर्मेंद साहू,महेश सेंडे, जितेंद्र चुनारकर ,अजित साबला ,पन्नालाल रामटेके , आदि का कहना है कि हमने कनेक्शन लिया है और बिल देते हैं इसलिए हमें पूरे समय बिजली मिलनी चाहिए।

यह तय करना विभाग का काम है कि बिजली कटौती या लो वोल्टेज दुरुस्त कैसे की जाये। यदि बिजली तत्काल नहीं चालू की गयी तो हम आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। तथा विरोध और नारे बाजी करने लगे आंदोलन बढ़ता हुआ देखकर जानकारी होने पर डोंगरगांव जनपद उपाध्यक्ष सुयश नाहटा वहां आए और लोगों की समस्याओं को जानकर वहां उपस्थित अधिकारियों से वार्तालाप कर उनसे आश्वासन लेकर जनता को अवगत कराएं तथा तत्काल बिजली चालू करवाई गई।तथा जेई ने भी जल्द ही समस्या के निराकरण होने की बात कही

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button