छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

समर्थन संस्था ने 394 परिवारों को बीज व सूखा राशन किया वितरित !

बांधाबाजार ! DNnews- समर्थन संस्था राजनांदगांव के द्वारा कैफ इंडिया के सहयोग से विकासखंड अं चौकी के 39 गांवो के 394 परिवारों को खेती बीज व सूखा राशन पैकेट प्रदाय किया गया.
उक्ताशय की जानकारी देते हुए समर्थन के कार्यक्रम समन्वयक राजेश साहू ने बताया कि संस्था कोविड काल मे ग्रामीण किसानों तथा गरीब वंचित परिवारो को लगातार मदद करते आ रही है.ग्राम पंचायतो की मदद से 12 ग्राम के छोटे व मध्यम तथा समस्याग्रस्त किसानो की सूची तैयार की गई.सूची के आधार पर चिन्हित 85 किसानो को खरीफ फसल के लिए दलहन, तिलहन एवं कीचन गार्डन के लिए प्रमाणित बीज निशुल्क प्रदाय की गई। इस प्रयास से किसानो को समय पर बीज की उपलब्धता हुई तथा बीजारोपण भी हुआ.

इसी प्रकार क्षेत्र के 39 ग्राम के 309 गरीब, वंचित, विधवा, परित्यक्तया,दिव्यांग,एकल महिला परिवार, बीमार ग्रस्त परिवारों को सूखा राशन पैकेट प्रदाय कर राहत पहुंचाई गई है.राशन पैकेट मे अरहर दाल, मूंग दाल, गुड, शक्कर, चायपत्ती, आटा, नमक, खाद्य तेल,आलू ,प्याज, सोयाबीन बड़ी शामिल था.

इस कार्यक्रम से विकासखंड के ग्राम होड़ीटोला, खुर्सीपार, मालडोंगरी ,हाडीटोला, एडमागोंदी, जादूटोला, मांझीटोला, शिकारीटोला, धानापायली, सेम्हरबांधा, हज्जूटोला, ओटेबांधा,पांडुटोला, पेन्दलकुही, तिरपेमेटा, दुवालगुडरा, सिंगरायटोला, बिटाल , जोरातराई, हाथीकन्हार, केकतीटोला , हालमकोडो, झिटिया, मुंजाल, खडखडी, संसारगढ, गोपलीनचुवा, भुरभुसी, कुन्डेराटोला, नीचेकोहडा, दुर्रेपोला, गौलीटोला, कुसुमकसा, साल्हे कुसुमकसा, कुम्हली, घोरदा, देवरसुर, कौडीकसा , कलकसा के परिवार लाभान्वित हुए है.

उल्लेखनीय है कि संस्था के द्वारा कोविड काल में पंचायत के संयुक्त प्रयास से पेयजल हेतु 6 गावो मे पानी टंकी की स्थापना, पिछले वर्ष 850 परिवारो को निशुल्क सूखा राशन पैकेट वितरण, वर्तमान मे 170 छोटे बच्चो के परिवारो तथा 50 गरीब परिवारो को राशन वितरण किया जा चुका है.

संस्था के माध्यम से अं चौकी व मोहला के 115 पंचायतो मे मोबाईल श्रमिक संसाधन केंद्र का संचालन कर जागरूकता के कार्य किये गए है। जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग व समर्थन के संयुक्त प्रयास से अं चौकी के 60 पंचायतो मे कोविड टीकाकरण जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button