छत्तीसगढ़टेक & ऑटो

स्टाफ नर्स शीतल चौहान को मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी ने कार्य में लापरवाही बरतने जाने पर किया निलंबित !

छुईखदान ! DNnews –छुईखदान ब्लाक के अंतर्गत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जंगलपुर में पदस्थ स्टाफ नर्स शीतल चौहान के द्वारा कार्य में लापरवाही का मामला सामने आया था. कि प्रार्थी कुमारी कामिनी सिंहा उम्र 16 वर्ष ग्राम खोंघा जो कि शासकीय हाई स्कूल जंगलपुर मे कक्षा दसवीं में अध्ययनरत थी. 27 अगस्त को स्टाफ नर्स शीतल चौहान के द्वारा उसकी इच्छा के विरुद्ध टिटनेस का इंजेक्शन लगाया था. बता दें कि छात्रा का स्वास्थ्य उस दिन से ठीक नहीं होने तथा खाली पेट होने की जानकारी उसके द्वारा नाम शीतल चौहान को दी गई थी. उसके बावजूद भी नर्स द्वारा छात्रा को बिना आस्तीन ऊपर कराएं लापरवाही पूर्वक टिटनेस का इंजेक्शन लगा दिया गया. जिसके उपरांत कामिनी के हाथों में खुजली होने लगी. तथा उसका स्वास्थ्य लगातार खराब होने लगा. जिसकी जानकारी छात्रा के परिवार वालों ने शितल चौहान को तत्काल दी गई. परंतु शितल चौहान के द्वारा गैर जिम्मेदाराना तरीके से प्रशिक्षण में हूं कहते हुए छात्रा से बात करने से इंकार कर दिया. उसकी हालत लगातार खराब होने लगी जिसके पश्चात परिजनों द्वारा उपचार के लिए कवर्धा एवं रायपुर सहित विभिन्न अस्पतालों में इलाज कराया परंतु दुर्भाग्यवश बालिका के पूरे शरीर में इंफेक्शन फैल जाने के कारण इलाज के दौरान मृत्यु हो गई.

▶️ परिजनों ने विधायक देवव्रत से की थी शिकायत

इधर परिजनों ने खैरागढ़ विधायक देवव्रत सिंह को मामले की जानकारी दी. जहां देवव्रत सिंह ने जिला चिकित्सा अधिकारी को पत्र व्यवहार के माध्यम से स्टाफ नर्स शीतल चौहान के ऊपर तत्काल कार्यवाही करने का आग्रह किया गया था. जहां मुख्य चिकित्सा अधिकारी राजनांदगांव के द्वारा उप स्वास्थ्य केंद्र जंगलपुर छुईखदान में पदस्थ शीतल चौहान को कार्य में घोर लापरवाही बरतने के कारण छत्तीसगढ़ सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित किए जाने का आदेश जारी कर दिया गया है. निलंबन अवधि में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घुमका में रहने का फरमान जारी किया गया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Back to top button