अपराधछत्तीसगढ़टेक & ऑटो

भ्रष्टाचार की भेंठ चढा बाईपास सड़क : खैरागढ़ सोनेसरार बाईपास गुणवत्ताविहीन निर्माण कार्य को लेकर भ्रष्ट ठेकेदार के ऊपर कारवाई करने विधायक यशोदा वर्मा को सौंपा ज्ञापन।

समय पर भ्रष्ट ठेकेदार के ऊपर कार्यवाही नही हुई तो मुख्यमंत्री को करेंगे शिकायत

खैरागढ़ ! DNnews- खैरागढ़ सोनेसरा से सरस्वती शिशु मंदिर एच एस 5 तक बन रहे बाईपास सड़क निर्माण पूरी तरह से भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ चुकी है. वर्ष 2018 मे बाईपास सड़क निर्माण का कार्य शुरू हुआ है. जो आज पर्यंत 5 साल तक सड़क निर्माण का कार्य पूरा नहीं हो चुका है.

आपको बता दें कि जितना समय बाईपास सड़क निर्माण में लगा है उससे कहीं कम समय ताजमहल बनाने में लगा होगा.दिलचस्प बात यह है कि भ्रष्ट ठेकेदार के द्वारा संबंधित विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से पूरी तरह से सड़क का नक्शा ही बदल दिया। एक तरफ सड़क बनना शुरू हुआ है तो दूसरी तरफ उखड़ना भी शुरू हो गया है. जगह-जगह दरारें, जगह-जगह सड़क का फटना आम बात हो गई है. यह भी बताते हैं कि जिस स्थान पर भ्रष्ट ठेकेदार के द्वारा कार्य पूर्ण बताया गया है उस स्थान पर हल्की सी बारिश में निर्माण कार्य पूरी तरह से भसक गया है। जिससे यह प्रदर्शित होता है कि ठेकेदार विभागीय अधिकारियों से मिलीभगत कर एस्टीमेट को दरकिनार कर कार्य को अंजाम दे रहा है

इसलिए जरूरी है बाईपास सड़क

बता दें कि खैरागढ़ शहर छोटे से दायरे में बसा हुआ है. वहीं शहर के बीचो बीच संकरा होने के कारण बड़ी गाड़ियों को चलने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. आए दिन शहर के बीचो बीच यातायात का समस्या बना रहता है. वहीं शहर के सड़कों के किनारे में ज्यादातर व्यापारी अपने व्यापार करते हैं. जहां ग्राहकों के द्वारा मोटरसाइकिल आदि खड़ा कर दिया जाता है इसके अलावा सड़क में चलने वाले चारपहिया वाहनों सहित अन्य वाहनों को बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इसलिए शहर से हटकर बड़ी गाड़ियों को चलने की मकसद से शहर के ठीक बाहर बाईपास सड़क का निर्माण कराया जा रहा है. बता दें कि शहर के अंदर निजी स्कूलों सहित शासकीय स्कूल भी संचालित है. जहां बच्चों का हमेशा सड़कों पर आना जाना लगा रहता है. यातायात के दृष्टिकोण से हमेशा बच्चों पर खतरा मंडराता रहता है. इसी खतरे को मद्देनजर रखते हुए शहर के ठीक बाहर बाईपास रोड का निर्माण कराया जा रहा है।

ठेकेदार व संबंधित विभाग का मिलीभगत

बता दें कि राजनांदगांव निवासी संजय सिंधी ठेकेदार के द्वारा इस काम का अनुबंध कराया हुआ है. जिसका अनुबंध दिनांक 25/06/2018 है, वहीं अनुबंध राशि 18 करोड़ 83 लाख 74 हज़ार है. 36 माह की गारंटी भी है। लेकिन एक बात समझ नही आ रहा है कि यह सड़क गारंटी मे बन रहा है या नया बन रहा है. क्योंकि निर्माण कार्य का समय सीमा समाप्त हो चुका है। लेकिन लापरवाही पूर्वक ठेकेदार अभी भी काम को अंजाम दे रहा है. इस सड़क पर दर्जनों पुल पुलिया का निर्माण होना है. लेकिन अभी तक पुल पुलिया का निर्माण भी पूरा नहीं हुआ है.

भसक रहा एप्रोच रोड

जहां पर पुल निर्माण हो रहा है वहां पर एप्रोच रोड बनाया गया है. वहीं एप्रोच रोड हाल ही में हुए हल्की बारिश में दम तोड़ने लगी है. एक बात और समझ नहीं आती कि खैरागढ़ विधानसभा एक बड़ी विधानसभा है जिसको नव जिला के रूप में भी देखा जा रहा है. इस जिले में विभिन्न पार्टियों के नेता भी निवास करते हैं. लेकिन आज तक किसी भी पार्टी के नेता बाईपास सड़क को सुधार करने के लिए एवं तत्काल निर्माण करने के लिए अपनी हिम्मत नहीं दिखाई इससे यह प्रदर्शित होता है कि यह नेता भी कहीं न कहीं ठेकेदार से मिले हुए हैं।

5 साल में भी नहीं बन सका बाईपास सड़क

बता दें कि सोनेसरार खैरागढ़ से सरस्वती शिशु मंदिर एच एस 5 तक बन रहे बाईपास सड़क 5 साल बाद भी पूरा नहीं हो सका. दिलचस्प बात यह है कि एक छोटी सी सड़क को बनाने में ठेकेदार को 5 साल तक समय लग रहा है तो आप सोच सकते हैं कि लंबी सड़क को बनाने में कितने समय लगता होगा. कछुआ गति से कार्य को अंजाम देना, वहीं स्टीमेट को दरकिनार कर ठेकेदार के द्वारा लोगों को बेवकूफ बनाकर सड़क का निर्माण करना समझ से परे है। इधर सड़क निर्माण के लिए सैकड़ों किसानों का जमीन को भी अधिग्रहण किया गया है। लेकिन किसान यह समझ रहे थे कि जैसे ही सड़क बनेगी हमें आने जाने में बड़ी सुविधा होगी लेकिन अधिग्रहित जमीन के मालिकों का कहना है कि जमीन अधिग्रहण करने के बाद शासन रोड बनाने का काम तो शुरू किया है लेकिन रोड बनाने का जो तरीका है वह सही नहीं है. जो आने वाले समय के लिए उचित नहीं है.

विधायक से की शिकायत, अब मुख्यमंत्री को भी करेंगे

खैरागढ़ सोनेसरा बाईपास रोड निर्माण को लेकर पत्रकार दिनेश साहू ने 16 अगस्त को विधायक यशोदा वर्मा को ज्ञापन सौंपकर अल्टीमेटम भी दिया है कि यदि सप्ताह भर के भीतर बाईपास रोड निर्माण में गड़बड़ियों को लेकर यदि किसी प्रकार की जांच नहीं होती तो वह आने वाले समय में मुख्यमंत्री सहित कलेक्टर को भी ज्ञापन सौंपेंगे और उन्होंने यह भी आखिर इतने बड़े गड़बड़ियों पर विभाग व जनप्रतिनिधि परदा क्यों डाल रखे है. ऐसे भ्रष्ट ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड मे रख लाईसेन्स रद्द करना चाहिए, ताकि अन्य कही और जगहो पर भ्रष्टाचार को अंजाम न दे सके।

सचमुच मे बाईपास सड़क अब तक बन जाना चाहिए था, यहां ठेकेदार की लापरवाही सामने दिखाई पड़ रही है. आपके शिकायत पर जल्द ही कार्यवाही की जाएगी।
यशोदा नीलांबर वर्मा विधायक खैरागढ़

Related Articles

Advertisement
Back to top button